अमेरिका बोला, भारत-पाकिस्तान बात करके सुलझाएं सीमा विवाद

0
310

वाशिंगटन। भारत और पाकिस्तान के सीमा विवाद को लेकर ट्रंप प्रशासन ने प्रतिक्रिया दी है. अमेरिकी कांग्रेस में उठाये गए भारत-पाकिस्तान मुद्दे पर ट्रंप प्रशासन का कहना है कि सीमा विवाद को सुलझाने के लिए दोनों देशों को बातचीत के जरिए सुलझाना चाहिए. भारत-पाकिस्तान विवाद का मामला शीर्ष अमेरिकी जनरल द्वारा अमेरिकी कांग्रेस में मुद्दा उठा. जिसपर प्रतिक्रिया देते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हीथर नॉर्ट ने बुधवार (28 फरवरी) को संवाददाताओं को संबोधित करते यह सलाह दी कि भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा को लेकर जो भी विवाद है, उसे साथ बैठकर बातचीत से सुलझाना चाहिए. उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच जो तनाव स्थायी रूप से बना हुआ है, वह सही नहीं है. इसलिए इस तनाव को खत्म करने के लिए दोनों देशों को बातचीत कर हल निकलना चाहिए.
अमेरिका ने पाकिस्तान को चेताया, आतंकी मदद का भुगतना होगा गंभीर परिणाम
दोनों देश हैं परमाणु शक्ति से सम्पन्न
‘यूएस सेंट्रल कमान’ के कमांडर, जनरल जोसेफ वोटेल ने ‘सीनेट आर्म्ड सर्विसेज कमेटी’ के समक्ष गवाही में कहा था कि भारत-पाकिस्तान दोनों ही परमाणु शक्ति संपन्न देश हैं. इसलिए जल्द से जल्द दोनों देशों को इस मसले पर हल निकलना चाहिए.
सीमा पर लगातार बना है तनाव
भारत-पाकिस्तान की नियंत्रण रेखा के पास पर आए दिन तनाव की खबरें आ रही है. भारतीय सेना ने कई बार पाकिस्तान को चेताया लेकिन पाकिस्तान बाज नहीं आ रहा है.
पाक के हाथों में परमाणु हथियारों का असर घातक : अमेरिकी विशेषज्ञ
पाक के खिलाफ भारत ने सौंपे हैं कई सबूत
भारत ने पाकिस्तान का ना पाक हरकतों के बारे में कई बार सबूत पेश किये हैं. जिनको पाकिस्तान हमेशा झुठलाता रहा है.
आतंकवाद का इलाज करें पाकिस्तान
आपको बता दें कि अमेरिका की एक वरिष्ठ अधिकारी ने पाकिस्तान से कहा है कि वह हक्कानी नेटवर्क और दूसरे आतंकवादी संगठनों पर कार्रवाई करे तथा आतंकवाद के वित्तपोषण से जुड़ी अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चिंताओं का निवारण करे.
3 आतंकियों को किया ढेर
अमेरिका ने शुक्रवार (23 फरवरी) को पाकिस्तान की सीमा में घुसकर 3 आतंकियों को मार गिराया. पाकिस्तान के उत्तरी वजीरिस्तान में अमेरिका ने एक ड्रोन हमला किया, जिसमें 3 आतंकवादी मारे गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.