अंतिम विदाईः श्री जयेंद्र सरस्वती शंकराचार्य का वृंदावन प्रवेश कार्यक्रम शुरू

0
174

श्री कांची कामकोटि पीठम के 69वें आचार्य श्री जयेंद्र सरस्वती शंकराचार्य का वृंदावन प्रवेश कार्यक्रम शुरू हो चुका है। वैदिक संवाद में इस संस्कार को वृंदावन प्रवेश कार्यकम कहा जाता है। विशेष पूजा-अर्चना के बाद उन्हें नंदवनम में महा समाधि दी जाएगी। वहीं श्री जयेंद्र सरस्वती के परलोक गमन के बाद उनका स्थान कनिष्ठ पीठाधिपति विजयेंद्र सरस्वती लेंगे। वे मठ के 70वें आचार्य होंगे।
शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के पार्थिव शरीर का अभिषेक किया जा रहा है।
मंत्रोच्चारण और विधि-विधान के साथ महासमाधि की प्रक्रिया मठ के अंदर की जा रही है। इस प्रक्रिया को वृंदावन प्रवेश कहा जाता है।
बुधवार को हुआ निधन
आपको बता दें कि आचार्य श्री जयेंद्र सरस्वती शंकराचार्य का दिल का दौरा पड़ने के बाद बुधवार को निधन हो गया। वे 82 साल के थे। श्री जयेंद्र सरस्वती को बैचेनी की शिकायत के बाद एक निजी अस्पताल ले जाया गया था, जहां उन्होंने आखिरी सांस ली। वैदिक संवाद में इस संस्कार को वृंदावन प्रवेश कार्यकम कहा जाता है।
आचार्य का पार्थिव देह को अंतिम दर्शन के लिए कामकोटि पीठम में रखा गया था। मठ आने वाले श्रद्धालुओं की आंखों में आंसू थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी, द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन, पीएमके के संस्थापक एस रामदास और अन्य ने उनके निधन पर शोक जताया।
प्रधानमंत्री और उपराष्ट्रपति ने शोक जताया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, श्री कांची कामकोटि पीठम जगदगुरू पूज्यश्री जयेंद्र सरस्वती शंकराचार्य के निधन से बहुत दुखी हूं। अपनी अनुकरणीय सेवा एवं पावन विचारों के कारण वह श्रद्धालुओं के मन-मस्तिष्क में हमेशा जीवित रहेंगे। दिवंगत आत्मा को ओम शांति। मोदी ने लिखा, जगदगुरु पूज्यश्री जयेंद्र सरस्वती शंकराचार्य अनगिनत सामुदायिक सेवा पहलों के अगुवा थे। उन्होंने उन संस्थानों को बढ़ावा दिया जिन्होंने गरीबों और वंचित तबके के लोगों की जिंदगी बदल दी।
उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने ट्वीट किया, कांची पीठाधिपति श्री जयेंद्र सरस्वती को मेरी श्रद्धांजलि। उन्होंने मोक्ष प्राप्त किया। मानव कल्याण और आध्यात्मिकता के प्रसार में उनका योगदान अन्य लोगों के लिए हमेशा प्रेरणा बना रहेगा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी उनके निधन पर शोक जताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here