चारा घोटाला: बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह पर आरोप, समन जारी

0
119

चारा घोटाला मामले में बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह सहित सात लोगों को आरोपी बनाया गया है।
[पटना/रांची]। दुमका कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला मामले में बिहार के मुख्य सचिव व दुमका के तत्कालीन उपायुक्त अंजनी कुमार सिंह सहित सात लोगों को आरोपी बनाया गया है। साथ ही कोर्ट में हाजिर होने के लिए समन जारी किया है। मामले में तत्कालीन वित्त सचिव विजय शंकर दुबे सहित अन्य पदाधिकारियों का नाम शामिल है।
दुमका मामले में फैसला 15 मार्च को
चारा घोटले के दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले की सुनवाई सोमवार को हुई। सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने सुनवाई के लिए तिथि निर्धारित थी। सुनवाई को लेकर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद, पूर्व सांसद डॉ. आर के राणा, जगदीश शर्मा सहित अन्य आरोपी कोर्ट में पेश हुए।
आरोपियों की पेशी वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से हुई। बचाव की ओर से कानूनी बिंदू पर बहस पूरी करते हुए अदालत ने फैसले की तिथि 15 मार्च निर्धारित की। लालू से जूडे चारा घोटाला मामले में यह तीसरा फैसला आएगा।
यह मामला दुमका कोषागार से 13 करोड़ 13 लाख चार हजार 451 रुपये अवैध निकासी से संबंधित है।राशि की निकासी दिसंबर 1995 से जनवरी 1996 के बीच हुई थी। इस मामले में सीबीआइ ने 11 अप्रैल 1996 को 48 आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी।
मामले में सीबीआइ ने अनुसंधान के बाद दो चार्जशीट अदालत में दायर किया गया था। 11 मई 2000 को अदालत में पहली चार्जशीट दायर की गई थी। इस चार्जशीट में 48 आरोपियों का नाम था। इसके बाद एक और चार्जशीट दाखिल किया गया। जिसमें एक आरोपी का नाम सामने आया था।
चारा घोटाला मामला: सरेंडर करने के बाद लालू वाले जेल में भेजे गए डॉ. जगन्नाथ मिश्र
सीबीआइ के वरीय विशेष लोक अभियोजक राकेश प्रसाद ने बताया है कि मामले में दो आरोपी सरकारी गवाह बन गए थे। मामले में वर्तमान में कुल 31 आरोपी अदालत में ट्रायल फेस कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here