जीतनराम मांझी ने बताई राज की बात, बोले: लालू की गुहार पर महागठबंधन में आए

0
193

जीतनराम मांझी ने कहा कि लालू प्रसाद ने उनसे मदद मांगी थी, इसलिए वे महागठबंधन में शामिल हुए। उन्‍होंने बिहार में कानून व्‍यवस्‍था की आलोचना की। मांझी ने और क्‍या-क्‍या कहा, जानिए।
भागलपुर । पूर्व मुख्यमंत्री एवं हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने कहा है कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने उनसे मदद मांगी थी। लालू ने महागठबंधन में शामिल होने के लिए उन्हें संदेश भेजा था। इसके बाद एनडीए छोड़कर महागठबंधन में शामिल होने का निर्णय लिया।
मांझी परिसदन में पत्रकारों से बात कर रहे थे। वे संग्रामपुर (मुंगेर) से अररिया जाने के क्रम में कुछ देर के लिए भागलपुर में रुके थे। मंगलवार को अररिया के रानीगंज में राजद नेता तेजस्वी यादव के साथ उनकी चुनावी सभा है।
उपचुनाव में जीतेंगे महागठबंधन प्रत्‍याशी
मांझी ने कहा कि बिहार में तीन सीटों के लिए हो रहे उप चुनाव में महागठबंधन के प्रत्याशियों की जीत होगी। कहा कि जहानाबाद उनका गृह क्षेत्र है। उपचुनाव में उन्होंने जहानाबाद से ‘हम’ के लिए सीट की मांग की थी, लेकिन जदयू को दे दिया गया।
पूरी नहीं हुईं पीएम मोदी से की गई मांग
जीतनराम मांझी के बिगड़े सुर, कहा- NDA व JDU के लोग करते विरोध
कहा, एनडीए में रहने के बावजूद उनकी पार्टी को किसी कमेटी या बोर्ड में भी नहीं रखा गया। गत विधानसभा चुनाव में भाजपा के कारण उन्हें 15-16 सीट गंवानी पड़ी थी। मांझी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उन्होंंने तीन मांग रखी थी, जो आज तक पूरी नहीं हुई।
बिहार के हालात को बताया नारकीय
मांझी ने कहा कि बिहार की स्थिति नारकीय हो गई है। शराब व बालू नीति विफल है। बालू नीति के कारण मजदूर बेकार हो रहे हैं। बालू के अभाव में निर्माण कार्य ठप है। वहीं शराब नीति की वजह से अधिकांश निर्दोष की गिरफ्तारियां हुई हैं। बिहार में माफिया राज कायम हो गया है। बिहार का बालू व पैसा दूसरे राज्यों में जा रहा है। विधि व्यवस्था भी बिगड़ गई है।
मांझी ने कहा कि उनके सीएम कार्यकाल के 34 निर्णयों का अक्षरश: पालन नहीं हो रहा है। कुछ निर्णयों को सीएम नीतीश कुमार ने तोड़-मरोड़ कर लागू किया है। राज्य में अपहरण, हत्या व बलात्कार की घटनाओं में वृद्धि हुई है।
जदयू नेता ने कहा- हम अपने एजेंडे पर चलते हैं, दूसरों से नहीं होते प्रभावित
पार्टी का महासम्‍मेलन आठ अप्रैल को
मांझी ने कहा कि पार्टी का महासम्मेलन आठ अप्रैल को पटना के गांधी मैदान में है। इसी सिलसिले में वे जिलों में सम्मेलन कर अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने की अपील कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आठ अप्रैल से पहले पार्टी का संगठनात्मक चुनाव हो जाएगा।
कहा, नरेंद्र सिंह पार्टी में नहीं
पार्टी में नरेंद्र सिंह की बगावत पर कहा कि उन्होंने विधान परिषद में लिखकर दिया था कि वे ‘हम’ में नहीं हैं। इसलिए उनके बारे में वे कुछ नहीं बोल सकते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here