भारत में महिलाओं के लिए काम करेगी बिल गेट्स की फाउंडेशन, इतने करोड़ का होगा निवेश

0
150

बिल गेट्स फाउंडेशन भारत के अलावा केन्या, तंजानिया और युगांडा में भी महिला सशक्तिकरण के लिए निवेश करेगी। बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने इन देशों में महिला सशक्तिकरण के लिए 1100 रुपये निवेश करने की घोषणा की है। बिल गेट्स फाउंडेशन ने यह ऐलान अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च) के एक दिन पहले किया है।
फाउंडेशन के अनुसार, इस निवेश में महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए लैंगिक समानता, महिलाओं के लिए रोजगार और उन्हें खेती में सहायता करने जैसे क्षेत्र शामिल किए गए हैं। फाउंडेशन के अनुसार ये निवेश फाउंडेशन के पिछले कार्यों पर आधारित है, जिसमें लिंग समानता के लिए 519 करोड़ 64 लाख और महिलाओं के आंदोलन को समर्थन देने के लिए 129 करोड़ 91 लाख रुपए निवेश किए गए थे।
फाउंडेशन की को-चेयरपर्सन मेलिंडा गेट्स कहती हैं कि महिलाएं आर्थिक रूप से अपने और अपने परिवार का जीवन बेहतर बना सकती हैं। जब महिलाओं के पास पैसा और उसे खर्च करने की आजादी होती है, तब उनका विश्वास और ताकत भी बढ़ती है।
कब शुरू की गई थी फाउंडेशन
बिल गेट्स ने साल 2000 में माइक्रोसॉफ्ट सीईओ पद छोड़ने के बाद पत्नी मेलिंडा के साथ मिलकर बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन की शुरआत की थी। यह दुनिया की सबसे बड़ी निजी चैरिटी संस्था है। उन्होंने 1999 में एक लाख करोड़ रुपए के माइक्रोसॉफ्ट के शेयर दान किए थे। जिसके बाद 2000 में 32,000 करोड़ रुपए से बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन की शुरूआत की गई थी। स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना और गरीबी मिटाना भी इस फाउंडेशन के मकसदों में शामिल है। यह फाउंडेशन पिछले कुछ समय से महिला सशक्तिकरण को लेकर भी काम कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here