INDvSL: धवन की सबसे बड़ी पारी पर भारी पड़े कुसाल परेरा, श्रीलंका ने 5 विकेट से जीता पहला टी20

0
140

नई दिल्ली/कोलंबो: कुसाल परेरा की आतिशी पारी के आगे टीम इंडिया के ओपनर शिखर धवन की करियर की सर्वोच्च पारी भी आखिर में बेकार चली गयी. कुसाल परेरा के धमाकेदार अर्धशतक के कारण ट्राई सीरीज़ के पहले मैच में यहां मेजबान श्रीलंका के हाथों पांच विकेट से हार झेलनी पड़ी.
धवन ने 49 गेंदों पर छह छक्कों और इतने ही चौकों की मदद से 90 रन बनाये जो इस प्रारूप में उनका सर्वोच्च स्कोर है. उन्होंने मनीष पांडे (35 गेंदों पर 37 रन) के साथ तब तीसरे विकेट के लिये 95 रन की साझेदारी की. इससे भारत ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने और दो विकेट नौ रन पर गंवाने के बावजूद पांच विकेट पर 174 रन बनाये.
कुसाल परेरा ने 37 गेंदों पर छह चौकों और चार छक्कों की मदद से 66 रन बनाये. भारत ने बीच में विकेट निकालकर वापसी की कोशिश की लेकिन तिसारा परेरा (दस गेंदों पर नाबाद 22) ने श्रीलंका को संकट में नहीं पड़ने दिया जिसने आखिर में 18.3 ओवर में पांच विकेट पर 175 रन बनाकर जीत दर्ज की.
यह भारत की 2015 के बाद श्रीलंका में किसी भी प्रारूप में पहली हार है. इस बीच उसने पांच टेस्ट, पांच वनडे और एक टी20 मैच में जीत दर्ज की थी.
श्रीलंका ने भी कुसाल मेंडिस (11) का विकेट जल्दी गंवा दिया लेकिन कुसाल परेरा आक्रामक मूड में क्रीज पर उतरे. रोहित शर्मा का तीसरे ओवर में ही पहले बदलाव के रूप में शार्दुल ठाकुर को गेंद सौंपने का फैसला सही साबित नहीं हुआ.
ठाकुर के इस ओवर में 27 रन बने और इस तरह से यह भारत की तरफ से टी20 अंतरराष्ट्रीय में दूसरा सबसे महंगा ओवर साबित हुआ. कुशाल परेरा ने पांच चौके और एक छक्का लगाया जबकि एक नोबाल भी थी. इससे श्रीलंका केवल 3.4 ओवर में 50 रन पर पहुंच गया. कुशाल परेरा ने केवल 22 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया.
दानुष्का गुणतिलक ने भी दो छक्कों की मदद से 12 गेंदों पर 19 रन बनाये. भारत ने गुणतिलक और कप्तान दिनेश चंदीमल (14) को आउट करके वापसी की कोशिश की. दस ओवर के बाद हालांकि श्रीलंका तीन विकेट पर 101 रन बनाकर अच्छी स्थिति में था.
कुसाल परेरा की तूफानी पारी का अंत वाशिंगटन सुंदर (28 रन देकर दो विकेट) ने किया जिनकी फ्लाइट लेती गेंद उन्हें छका गयी और बाकी काम विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने कर दिया. ठाकुर इसके बाद ही गेंदबाजी के लिये आये. उन्हें उपुल थरंगा का विकेट मिल जाता लेकिन मिडविकेट पर ऋषभ पंत ने कैच छोड़ दिया.
युजवेंद्र चहल ने हालांकि अगले ओवर में थरंगा को पवेलियन भेजकर भारत की उम्मीद जगा दी. श्रीलंका को आखिरी पांच ओवरों में 38 रन चाहिए थे और उसके पांच विकेट बचे थे.
तिसारा और दासुन शनाका (नाबाद 15) ने यहां से बखूबी जिम्मेदारी संभाली और टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया. जब भारत दबाव बना रहा था तब तिसारा ने जयदेव उनादकट की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का लगाकर टीम की राह आसान की.
इससे पहले रोहित (शून्य) और सुरेश रैना (एक) के पहले दो ओवर में पवेलियन लौटने के बाद धवन ने अपने फुटवर्क और ताकत का अच्छा नमूना पेश किया और कई दर्शनीय शाट लगाये. शुरू में उनकी टाइमिंग सही नहीं थी लेकिन बाद में उन्होंने प्रवाहमय बल्लेबाजी की.
ऋषभ पंत (23 गेंदों पर 23 रन) रन बनाने के लिये जूझते रहे जिससे श्रीलंका ने आखिरी ओवरों में वापसी की. धवन और पंत ने चौथे विकेट के लिये 49 रन जोड़े. कार्तिक छह गेंदों 13 रन बनाकर नाबाद रहे. भारत ने 17वें और 18वें ओवर में केवल दस रन बनाये जिससे वह 180 रन के पार नहीं पहुंच पाया. श्रीलंका की तरफ से दुशमंत चमीरा ने 33 रन देकर दो विकेट लिये.
रोहित का लचर प्रदर्शन जारी रहा और वह पहले ओवर में ही मिडआफ पर कैच दे बैठे. इसके हालांकि जीवन मेंडिस की तारीफ करनी होगी जिन्होंने दौड़ लगाकर हवा में लहराती गेंद को खूबसूरती से कैच में बदला. रोहित ने पिछली पांच अंतरराष्ट्रीय पारियों में केवल 47 रन बनाये हैं.
रैना ने अगले ओवर में अपने तीनों स्टंप खाली छोड़ दिये और नुवान प्रदीप की फुलटास उनका मिडिल स्टंप थर्रा गयी. पहले तीन ओवर के बाद स्कोर दो विकेट पर दस रन था लेकिन धवन और पांडे ने अगले सात ओवर में 69 रन जुटाये जिससे दस ओवर बाद स्कोर दो विकेट पर 80 रन पहुंच गया.
इसमें धवन का योगदान विशेष रहा जिसमें प्रदीप पर जमाये गये उनके लगातार दो छक्के भी शामिल हैं. बायें हाथ का यह बल्लेबाज बीच में डीआरएस रिव्यू से भी बचा. उन्होंने इसका फायदा उठाकर अकिला धनंजय पर एक्स्ट्रा कवर पर चौका जड़कर 30 गेंदों पर टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपना पांचवां अर्धशतक पूरा किया.
भारत ने पांडे के रूप में तीसरा विकेट गंवाया जो आकर्षक पारी नहीं खेल पाये. उन्होंने अपनी पारी में तीन चौके और एक छक्का लगाया.
धवन ने दुशमंत चमीरा पर भी दो छक्के लगाये. इस ओवर में उन्हें जीवनदान भी मिला लेकिन वह टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपना पहला शतक लगाने से चूक गये. दानुष गुणतिलक की गेंद पर वह सही टाइमिंग से शाट नहीं लगा पाये और लांग आफ पर आसान कैच दे बैठे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here