दलाई लामा नहीं जाएंगे इंडियन साइंस कांग्रेस में, एक हफ्ते पहले रद्द हुआ था बड़ा कार्यक्रम

0
307

दलाई लामा मणिपुर में होने वाले 105वें इंडियन साइंस कांग्रेस में शामिल नहीं होंगे. केंद्र सरकार की कथित बेरुखी की वजह से एक हफ्ते पहले ही दिल्ली में दलाई लामा से जुड़े एक बड़े कार्यक्रम को रद्द करना पड़ा है. ऐसे में इस बात को लेकर चर्चाएं होने लगी हैं कि क्या दलाई लामा सरकार से नाराज हैं?इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के अनुसार 105वां इंडियन साइंस कांग्रेस (ISC) शुक्रवार को मणिपुर में शुरू हो रहा है. दलाई लामा का नाम इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथियों में है, लेकिन वह इसमें नहीं जा रहे हैं.इंडियन सांइस कांग्रेस एसोसिएशन के जनरल प्रेसिडेंट अच्युत सामंत ने पीटीआई को बताया कि दलाई लामा को इस सम्मेलन में आमंत्रित किया गया था, लेकिन वह नहीं आ पा रहे. सामंत ने कहा, ‘हमें यह बताया गया कि अभी वह दो महीने पहले ही मणिपुर आए थे.’सरकार की बेरुखी से रद्द हुआ दिल्ली में दलाई लामा का कार्यक्रम! चीन के साथ रिश्तों की दुहाई हालांकि साइंस कांग्रेस की वेबसाइट में अब भी यह दिखाया जा रहा है कि कार्यक्रम में तीन नोबेल विजेता दलाई लामा, मोहम्मद युनूस और हिरोशी अमानो मुख्य अतिथि के रूप में आ रहे हैं. साइंस कांग्रेस का आयोजन मणिपुर यूनिवर्सिटी में किया जा रहा है. दलाई लामा के इस कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में पहुंचने की योजना थी जिसमें पीएम मोदी और कई केंद्रीय मंत्री हिस्सा लेंगे.उद्घाटन सत्र शुक्रवार सुबह 10 बजे शुरू होगा जिसमें करीब 5,000 लोग हिस्सा लेंगे. निर्वासन तिब्बती सरकार से जुड़े सूत्रों ने बताया है कि दलाई लामा अगले 5-6 दिनों तक धर्मशाला में ही रहेंगे और उनके उत्तर-पूर्व या कहीं जाने की कोई योजना नहीं है.गौरतलब है कि भारत सरकार के वरिष्ठ नेताओं और पदाधिकारियों के दलाई लामा के एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम से दूरी बनाने के बाद, दिल्ली में इसके आयोजन को रद्द कर देना पड़ा था. दलाई लामा के भारत में निर्वासन के 60 साल पूरा होने के अवसर पर तिब्बती समुदाय की तरफ दिल्ली में दो कार्यक्रमों का आयोजन किया गया था.एक खबर के अनुसार एक सरकारी नोट भेजकर वरिष्ठ नेताओं और पदाधिकारियों को इस कार्यक्रम में से दूर रहने को कहा गया था. इसके बाद निर्वासित तिब्बती प्रशासन ने इस कार्यक्रम का आयोजन स्थल बदलकर धर्मशाला में कर लिया है.
सरकारी नोट में कहा गया था कि यह ‘भारत-चीन संबंधों के लिए बहुत ही संवेदनशील मसला है.’ निर्वासित तिब्बती समुदाय ने दलाई लामा के निर्वासन के 60 साल पूरे होने पर दिल्ली में दो कार्यक्रम करने की योजना बनाई थी, लेकिन दोनों को रद्द करना पड़ा है. पहला कार्यक्रम 31 मार्च को राजघाट में गांधी समाधि पर एक सर्वधर्म प्रार्थना का था और दूसरा 1 अप्रैल को त्यागराज स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में ‘धन्यवाद भारत’ कार्यक्रम होना था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.