अमेरिका-ब्रिटेन ने जताया शक, जासूस को जहर देने के पीछे रूस का हाथ

0
145

ब्रिटेन में पूर्व रूसी जासूस और उनकी बेटी की जहर देने का मामला अब बढ़ता जा रहा है. प्रधानमंत्री टेरेज़ा मे ने साफ तौर पर कहा है कि इस घटना के पीछे रूस का हाथ है. वहीं उनके सुर में सुर मिलाते हुए अमेरिकी विदेशमंत्री रेक्स टिलरसन ने भी कहा कि ब्रिटेन पीएम का बयान कई सवालों को खड़ा करता है. इसके पीछे रूस का ही हाथ हो सकता है.टेरेज़ा मे ने कहा कि सरकार इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि पूर्व जासूस सर्गई स्क्रेपल और उनकी बेटी यूलिया पर हमले के पीछे रूस हाथ होने की प्रबल संभावना है. गौरतलब है कि पूर्व रूसी जासूस स्क्रेपल और उनकी बेटी यूलिया पर बीते चार मार्च को जहर देकर निशाना बनाया गया था.इस मामले में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन कह चुके हैं कि डबल एजेंट पर हमले के मामले में मॉस्को के साथ बातचीत करने से पहले ब्रिटेन को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए.आपको बता दें कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरेज़ा मे ने पूर्व रूसी जासूस को जहर देने के मामले पर खुफिया स्थिति का आकलन करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई थी.
स्थानीय अखबार ‘ द टाइम्स’ के मुताबिक, सरकार के वरिष्ठ सूत्रों ने कहा है कि पुलिस और सुरक्षा सेवाओं के पास हत्या के प्रयास से मास्को के संबंधों को जोड़ने के लिये उनके पास पर्याप्त सबूत हैं. इस बात की अटकलें हैं कि बैठक के बाद ब्रिटिश सरकार रूस के खिलाफ कार्रवाई की घोषणा कर सकती है.ब्रिटेन के सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि तकरीबन 500 लोग इसलिए एक रेस्त्रां और पब में थे ताकि वे अपने सामान को साफ कर लें ताकि उस खतरनाक नर्व एजेंट के किसी भी निशान को हटाया जा सके जिसका इस्तेमाल लक्ष्य के खिलाफ किया गया था.सैलिसबरी में मिल पब और जिज्जी इतालवी रेस्त्रां में जहरीले पदार्थ के निशान पाए गए थे. इस पदार्थ का इस्तेमाल सर्गेई स्क्रिपाल और उनकी बेटी यूलिया को जहर देने के लिये किया गया था. शहर में माल्टिंग्स शॉपिंग सेंटर में इसी जगह दोनों थे. उसके बाद दोनों अचानक बीमार पाए गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here