केजरी का माफीनामा विवाद: संजय सिंह बोले- फैसले से पार्टी में कई नाखुश; पंजाब प्रभारी भगवंत मान का इस्तीफा

0
124

नई दिल्ली/चंडीगढ़.अकाली सरकार के पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से अरविंद केजरीवाल के माफी मांगने पर आप में नई कंट्रोवर्सी शुरू हो गई। आम आदमी पार्टी की पंजाब यूनिट के साथ ही कुमार विश्वास जैसे उनके कई साथियों ने इस पर नाराजगी जाहिर की। कुमार ने ट्वीट में लिखा- ”क्या हम उस शख्स पर थूकें, जो थूक कर चाटने में माहिर है।” उधर, पंजाब के प्रभारी भगवंत मान ने पद से इस्तीफा दे दिया। पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा है कि इस फैसले से कई लोग नाखुश हैं। गुरुवार को केजरी के माफीनामे के बाद मजीठिया ने अमृतसर कोर्ट में मानहानि केस वापस ले लिया। हालांकि, एसआईटी ने मजीठिया के खिलाफ हाईकोर्ट में ठोस सबूत पेश करने का दावा किया है। बता दें कि आप ने पंजाब में ड्रग रैकेट को मुद्दा बनाकर चुनाव लड़ा था, इस दौरान केजरी ने मजीठिया को ड्रग माफिया तक कहा।मजीठिया के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो: संजय सिंह

– आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा, ”अगर बिक्रम मजीठिया के खिलाफ ड्रग रैकेट में शामिल होने के पर्याप्त सबूत हैं तो एसटीएफ को उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। मजीठिया जैसे लोग जेल जाएंगे, तभी लोगों को इंसाफ मिलेगा। मैंने उनसे कोई माफी नहीं मागी है।”

– हालांकि, जब संजय सिंह से पूछा गया कि ऐसे में मुख्यमंत्री केजरीवाल ने क्यों मानहानि केस में उनसे माफी मांगी? इस पर सिंह ने कहा कि मैं इस पर कुछ नहीं बोलूंगा। बस कई लोग इससे नाखुश हैं।

माफीनामे से आप की पंजाब यूनिट में बगावत

– मजीठिया से माफी विवाद में आप की पंजाब यूनिट के नेता खफा हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने इस फैसले को लेकर उनसे कोई राय नहीं लिया। इसी नाराजगी के चलते शुक्रवार को चंडीगढ़ में आप के 20 विधायकों की मीटिंग हुई।

– पंजाब विधानसभा में नेता विपक्ष सुखपाल सिंह खैरा ने कहा, ”केजरीवाल के माफी मांगने से हम पूरी तरह स्तब्ध हैं। हमें इस बात को स्वीकार करने में कोई गुरेज नहीं है कि हमसे इस बारे में कोई चर्चा नहीं की गई। पंजाब के सभी नेता हैरान हैं कि जब एसटीएफ ने मजीठिया के खिलाफ हाईकोर्ट में ठोस सबूत पेश किए हैं तो क्यों उनसे माफी मांगी गई।”

– वहीं, आप विधायक कंवर संधु ने कहा, ”अगर आप सत्य के लिए खड़े होते हैं तो मानहानि का सामना करना पड़ता है। मैं केवल माफिया द्वारा दाखिल केस का सामना कर रहा हूं। केजरीवाल की माफी ने युवाओं को शर्मिंदा किया है।”

किसने क्या कहा?

– कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, ”केजरीवाल ने मजीठिया से माफी मांगकर पंजाब की जनता को धोखा दिया। ऐसे आदमी के सामने घुटने टेक दिए, जिसे पूरा पंजाब ड्रग रैकेट के लिए दोषी मानता है। ये अरविंद केजरीवाल की बुजदिली है।”

– लोक इंसाफ पार्टी के नेता सिमरजीत सिंह बैंस ने आप से गठबंधन तोड़ने पर कहा, ”यह पंजाब के लोगों के साथ धोखा है। जनता इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। शायद पिछले दरवाजे से उनके बीच कोई डील हुई हो। हमारे विधायक बैठकर आम राय बनाने के लिए बात करेंगे।”
– बिक्रम मजीठिया की बहन और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा, ”इससे आप की ओछी राजनीति सामने आ गई है। वो प्रोपेगंडा के लिए झूठे आरोप लगाते हैं। उन्होंने पंजाब में झूठ के बूते चुनाव लड़ा। अच्छी बात है कि उन्होंने खुद अपने झूठ को स्वीकार कर लिया।”

क्या थूक चाटने वाले पर थूकें: विश्वास का ट्वीट

– आप से खफा चल रहे कुमार विश्वास ने मजीठिया से माफी मांगे जाने पर ट्वीट कर केजरीवाल पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा, ”एकता बांटने में माहिर है, खुद की जड़ काटने में माहिर है, हम क्या उस शख्स पर थूकें जो खुद, थूक कर चाटने में माहिर है!”

– दिल्ली सरकार से बर्खास्त किए गए पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने केजरीवाल की फोटो के साथ ट्वीट में किया, ”किसी की 56 इंच की छाती किसी की 56 इंच की जीभ, मुझे चाहिए थूक कर चाटने की आजादी।”

एसटीएफ की रिपोर्ट में फंस सकते हैं मजीठिया

– केजरीवाल ने भले ही बिक्रम मजीठिया से माफी मांग ली हो, लेकिन ड्रग रैकेट मामले की जांच कर रही एसटीएफ ने अपनी रिपोर्ट पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट को सौंप दी है। एसटीएफ की इस रिपोर्ट से मजीठिया और ड्रग्स रैकेट को लेकर कई खुलासे हो सकते हैं। सूत्रों के अनुसार एसटीएफ ने कहा है कि ड्रग्स रैकेट में मजीठिया के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं।

केजरीवाल ने माफीनामे में क्या कहा?

– गुरुवार को कोर्ट को दिए माफीनामे में केजरी ने लिखा, ”बीते दिनों मैंने आप पर ड्रग कारोबार में शामिल होने के आरोप लगाए थे। इन बयानों को राजनीतिक रूप दिया गया। अब मुझे यह समझ आया है कि मैंने जो आरोप आपके खिलाफ लगाए थे वह बेबुनियाद है। इसलिए अब इस विषय पर कोई भी राजनीति नहीं होनी चाहिए।”

– ”मेरे द्वारा राजनीतिक रैलियां, टीवी शो, राजनीतिक बैठकें, प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया में जो आरोप लगाए गए थे, इसके चलते आपने आम आदमी पार्टी पर जो मानहानि का केस अमृतसर कोर्ट में दाखिल किया है। आपके खिलाफ मैंने जो भी बयान दिए थे, उसके लिए मैं माफी मांगता हूं। इन आरोपों से आपको, परिवार को और समर्थकों के मान-सम्मान को जो ठेस पहुंची है, उसके लिए मुझे खेद है।”

केजरी ने कहा था- अकाली नेताओं को जेल में डालेंगे

– 2016 के पंजाब विधानसभा चुनाव कैंपेन में केजरी ने अकाली सरकार के मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया पर हमला बोला था। उन्होंने मजीठिया पर ड्रग ट्रेड में शामिल होने का आरोप लगाया। केजरीवाल ने रैलियों में कहा था कि अगर आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है तो मजीठिया जैसे नेताओं को कॉलर पकड़कर जेल भेजा जाएगा। इसके अलावा प्रकाश सिंह बादल सरकार के खिलाफ भी मोर्चा खोला। उन्हें ड्रग माफिया और अपराधियों का मददगार बताया।

– आप के आरोपों को लेकर अकाली नेता ब्रिकम सिंह ने केजरीवाल, संजय सिंह और आशीष खेतान पर मानहानि केस किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here