आत्महत्या करने को तैयार मूक लड़की से 14 घंटे की बात, बचाई जान

0
69

इंदौर
इंदौर पुलिस के साथ काम करने वाले काउंसलर्स ज्ञानेंद्र पुरोहित और उनकी पत्नी मोनिका को गुरुवार रात 9 बजे एक विडियो कॉल आई। विडियो में उन्हें 26 साल की एक लड़की दिखी जो खुद को फांसी लगाने के लिए तैयार खड़ी थी। यह देखकर दंपती के हाथ-पैर फूल गए, लेकिन 14 घंटे की मशक्कत के बाद लड़की को बचा लिया गया।लड़की राजस्थान की रहने वाली है। वह बोल नहीं सकती और मोनिका-पुरोहित से उसकी बात पहले से होती आ रही थी। उसने 13 मार्च को दंपति से संपर्क कर मदद मांगी थी। उसने बताया था कि जब वह 10 साल की थी तब उसके पिता ने उसका रेप किया था। पुरोहित और मोनिका ने इस लड़की से दो दिन तक बात की। इसके बाद गुरुवार को जब उसने विडियो कॉल की तो वह दुपट्टा गले में बांधकर फांसी पर लटकने की तैयारी में थी।इंसाफ का भरोसा दिलाया
यह देखकर सारी रात मोनिका और पुरोहित बारी-बारी से उससे बात करते रहे। उन्होंने कई मूक-बधिर लोगों से उसकी बात कराई जिससे कि वह खुद को अकेला न समझे। सभी लोग उसे न्याय मिलने का भरोसा दिलाते रहे लेकिन सारी रात सबसे बात करते हुए भी उसने अपने गले से दुपट्टा नहीं निकाला।इस दौरान पुरोहित ने इंदौर पुलिस की मदद से राजस्थान पुलिस को इस बार में जानकारी दी। हनुमानगढ़ निवासी लड़की को ट्रैक कर पुलिस गुरुवार सुबह 11:30 बजे उसके पास पहुंची और दरवाजा तोड़कर उसे बचा लिया गया। उसे अब महिला शेल्टर भेज दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here