सुनील दत्‍त ने भेजे थे नरग‍िस के र‍िकॉर्ड टेप, मां की आवाज सुन 4 द‍िनों तक रोए संजय

0
140

बॉलिवुड ऐक्टर संजय दत्त कई फिल्मों में ऐक्शन अवतार में नजर आ चुके हैं। इसके उलट वह रियल लाइफ में काफी इमोशनल हैं। इसका खुलासा यासिर उस्मान की किताब ‘संजय दत्त: द क्रेजी अनटोल्ड स्टोरी ऑफ बॉलिवुड बैड बॉय’ से हुआ है।
इस किताब में संजय के कई अनसुने किस्सों के बारे में बताया गया है। उस्मान ने संजय के हवाले से लिखा है कि संजय की मां नरगिस का निधन उनकी पहली फिल्म ‘रॉकी’ की रिलीज से ठीक पहले ही हुआ था। उस वक्त संजय नहीं रोए लेकिन तीन साल बाद एक टेप में मां की आवाज सुनते ही वह बच्चों की तरह फूट-फूटकर चार दिन तक रोते रहे।किताब में लिखा है, ‘मां की मौत के तीन साल बाद संजय अमेरिका में नशीली दवा की लत से छुटकारा के लिए उपचार केंद्र में थे। इस दौरान मदद के लिए पिता सुनील दत्त ने नरगिस के अंतिम दिनों के कुछ रिकॉर्ड किए हुए टेप उन्हें भेजे थे। संजय को जब अपने पिता से टेप मिला तो उन्हें पता नहीं था कि उसमें क्या है। उन्होंने उसे बजाया और अचानक ही कमरे में नरगिस की आवाज गूंजने लगी।’
किताब के मुताबिक, ‘मां की आवाज गूंजने पर संजय को अपना बचपन याद आ गया। उनकी मां की आवाज कमजोर और दर्द से भरी हुई थी लेकिन तब भी वह अपने बेटे के सपनों की बातें कर रही थीं और उन्हें सलाह दे रही थीं। मां की आवाज सुन संजय को अहसास हुआ कि मां उन्हें कितना प्यार करती थीं। इसी के बाद वह चीख-चीखकर रोने लगे और चार दिनों तक उनके आंसू नहीं थमे।’बता दें, इस किताब में संजय की अच्छी-बुरी आदतों, गलतियों, संघर्ष और कामयाबी जैसे कई किस्सों का जिक्र किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here