CM योगी ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड, कहा- आकलन के लिए 1 साल का कार्यकाल पर्याप्त नहीं

0
145

यूपी सरकार का एक साल पूरा होने के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी उपलब्धियां गिनाईं. इस दौरान उन्होंने कहा कि ठीक एक साल पहले हमारी सरकार ने जिम्मेदारी संभाली थी जिसके बाद हमारी सरकार ने प्रदेश में परिवर्तन किया और विकास के साथ-साथ सरकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाया. इस दौरान उन्होंने ये भी कहा कि कामकाज के मूल्यांकन के लिए एक साल पर्याप्त नहीं है.योगी ने कहा, ‘यूपी की जनता ने आदरणीय प्रधानमंत्री के साथ जुड़कर बीजेपी और सहयोगी दलों को प्रचंड बहुमत देकर एक नई आशा के साथ सरकार बनाने में योगदान दिया था. जब हम सरकार में आए तो काफी चुनौतियां थीं. एक साल से पहले तक यूपी में जंगलराज था. साथ ही यूपी की राजनीति जातिवाद और परिवारवाद में उलझी हुई थी. इससे प्रदेश को मुक्ति मिली है.’उन्होंने कहा कि यूपी जैसे चुनौतीपूर्ण राज्य में काम के मूल्यांकन के लिए एक साल काफी नहीं है. वह भी उस राज्य में जहां एक साल पहले तक जंगलराज, अराजकता, भय और गुंडाराज का माहौल था. बाजवूद इसके हमने टीम भावना के साथ काम किया.योगी ने कहा कि यूपी की राजनीति जातिवाद और परिवारवाद के चलते बदनाम थी. साथ ही विभाजनकारी राजनीति की जा रही थी. लेकिन हमारी सरकार ने यूपी को ऐसी राजनीति से मुक्त कराया है.योगी ने कहा, ‘जब काम शुरू किया तो प्रदेश का खजाना खाली था, जो हमारे लिए बड़ी चुनौती थी. साथ ही बड़ी संख्या में सड़कें गड्ढायुक्त थीं और किसान आत्महत्या कर रहा था. निवेशक यहां नहीं आ रहा था और कारोबारी पलायन कर रहा था. भय का माहौल था. ऐसी स्थिति में हमने किसानों की आय दोगुनी करने के प्रधानमंत्री के संकल्प को ध्यान में रखते हुए 86 लाख किसानों का 1 लाख तक कर्ज माफ करने का फैसला किया.’योगी ने कहा कि लोग मानते थे कि हम जनता पर अतिरिक्त टैक्स लगाकर ये पैसा वसूलेंगे. लेकिन हमने अनावश्यक योजनाओं पर रोक लगाकर और सहयोगियों के खर्च कम कर ये काम किया और कर्जमाफी की नीति को सफलतापूर्वक लागू किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here