तमिलनाडु में दूसरी बार प्रसिद्ध समाज सुधारक पेरियार की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्‍त

0
243

चेन्‍नै
देश में त्रिपुरा से शुरू हुई मूर्तियों को क्षतिग्रस्‍त करने की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। मंगलवार को तमिलनाडु के पुडुक्‍कोट्टई में अज्ञात हमलावरों ने प्रसिद्ध समाज सुधारक ईवी रामासामी ‘पेरियार’ की मूर्ति को क्षतिग्रस्‍त कर दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। हालांकि इस संबंध में अभी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। राज्‍य में पेरियार की मूर्ति तोड़े जाने की यह दूसरी घटना है।इससे पहले तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक पेरियार की प्रतिमा कथित रूप से क्षतिग्रस्त कर दी गई थी। इस घटना के बाद राज्‍य में राजनीतिक विवाद शुरू हो गया था। त्रिपुरा की घटना के बाद बीजेपी के एक नेता ने संकेत दिया था कि तर्कवादीनेता पेरियार की प्रतिमा का अगला नंबर हो सकता है जिसे गिराया जा सकता है। इस घटना के बाद बीजेपी के दफ्तर पर बम फेंका गया था। हालांकि पुलिस ने दावा किया कि इस घटना को नशे में रहे दो व्यक्तियों ने अंजाम दिया।मूर्ति तोड़ने का आरोप बीजेपी के एक नेता पर लगा था। इसके बाद तमिलनाडु बीजेपी अध्यक्ष तमिलिसाई सौंदराजन ने मूर्ति तोड़ने के आरोपी आर मुथुरमन को पार्टी से निष्काषित कर दिया था, वहीं बम फेंकने के मामले में टीडीपीके के एक कार्यकर्ता ने आत्मसमर्पण किया था। बता दें, सोमवार को प्रेजिडेंसी यूनिवर्सिटी में भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी नेम प्लेट पर कालिख पोत दिया गया था। प्रेजिडेंसी यूनिवर्सिटी में ही डॉक्टर मुखर्जी ने पढ़ाई की थी।इससे पहले कोलकाता में डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति पर कालिख पोत दिया गया था। शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के बर्दवान जिले में देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की मूर्ति पर हमला कर उस पर काला रंग फेंक दिया गया था। यह घटना कटवा टेलिफोन मैदान में हुई थी। बाद में स्थानीय लोगों की मदद से पुलिस ने मूर्ति को साफ कराया।त्रिपुरा में लेनिन के बाद, तमिलनाडु में पेरियार, कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी, केरल में महात्मा गांधी, यूपी में अंबेडकर के बाद भगवान हनुमान की मूर्ति के साथ छेड़छाड़ की गई थी। देश भर में एक दूसरे के आदर्शों की मूर्ति तोड़ सियासत के बीच उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और बीजेपी चीफ अमित शाह समेत कई दलों के नेताओं ने इन घटनाओं की निंदा की थी। नायडू ने राज्यसभा में मूर्ति तोड़ने वाले को मैड बता डाला। उन्होंने कहा कि मूर्ति तोड़ने वाले मैड हैं और हंगामा करने वाले बैड।बीजेपी चीफ शाह ने भी साफ किया कि पार्टी मूर्ति तोड़ने की घटनाओं का समर्थन नहीं करते हैं। मूर्ति तोड़ने की घटनाएं दुखद हैं। इस बीच मूर्ति विवाद में ऐक्टर से नेता बने कमल हासन भी कूद गए थे। हासन ने मूर्ति तोड़ने की निंदा करते हुए कहा कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा, ‘मूर्ति तोड़ने के लिए जो भी दोषी हो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए। मूर्ति तोड़ना मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाने की साजिश है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.