बिना कंप्‍यूटर के ब्‍लैकबोर्ड पर उतर आया माइक्रोसाफ्ट वर्ल्‍ड साफ्टवेयर

0
370

आप भले ही इसे नामुमकिन कहें पर एक ऐसा टीचर है, जिसके स्‍कूल में एक भी कंप्यूटर नहीं है, फिर भी उसने क्‍लास में बच्‍चों को माइक्रोसाफ्ट वर्ल्‍ड सिखा दिया। उस टीचर ने बच्‍चों को ब्‍लैकबोर्ड पर कलर्ड चॉक से पूरा माइक्रोसाफ्ट वर्ल्‍ड पढ़ा दिया। ये कहानी है पश्चिमी अफ्रीकी देश घाना के एक छोटे से कस्‍बे स्‍केडोमास के एक स्‍कूल में पढ़ाने वाले एक टीचर ‘राबर्ट अपिहा अकोतो’ अपने स्‍कूल के बच्‍चों को कंप्‍यूटर पढ़ाने के लिए इतने समर्पित हैं, कि उन्‍होंने स्‍कूल में एक भी कंप्‍यूटर न होने के बाद भी ब्‍लैकबोर्ड पर ही बच्‍चों को माइक्रोसाफ्ट वर्ल्‍ड पढ़ाना शुरु कर दिया। 33 साल के अकोतो ने बाकायदा रंगीन चॉक से ब्‍लैकबोर्ड पर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड का पूरा इंटरफेस बनाकर बच्‍चों को सॉफ्टवेयर पढ़ाना शुरु कर दिया। ऐसे ही एक दिन वो क्‍लास में पढ़ा रहे थे, तभी किसी ने उनकी फोटो लेकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दी। इसके बाद ये तस्‍वीर तेजी से वायरल हो गई। इस तस्‍वीर और अकोतो की लगन से कंप्‍यूटर पढ़ाने की कलाकारी देखकर दुनिया भर की तमाम संस्‍थाएं उनकी और स्‍कूल की मदद के लिए आगे चली आईं हैं। माइक्रोसॉफ्ट-अफ्रीका के अलावा एनआईआईटी मैनेजमेंट ने भी मदद की पेशकश की है। फेसबुक पर अब अकोतो को देख कर माइक्रोसॉफ्ट अफ्रीका ने उनको सिंगापुर के एजुकेशन एक्‍सचेंज में खासतौर पर आमंत्रित भी किया है। वहीं भारत के एक एनआईआईटी इंस्‍टीट्यूट ने अपनी तरफ से अकोतो की इस लगन के लिए उनके स्‍कूल को 5 डेस्‍कटॉप कंप्‍यूटर, कुछ किताबों के साथ साथ उनके लिए भी एक लैपटॉप भेजने को फैसला किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.