जेएनयू, बीएचयू, एएमयू को मिली फैसले लेने की ज्यादा आजादी

0
95

एचआरडी मिनिस्ट्री ने जेएनयू, बीएचयू, एएमयू और हैदराबाद यूनिवर्सिटी सहित 62 हायर एजुकेशन इंस्टिट्यूट को ज्यादा स्वायत्तता दे दी है। मंगलवार को हुई एक मीटिंग में यह फैसला लिया गया। एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि जिन यूनिवर्सिटी को नैक से 3.26 से ज्यादा नंबर मिले हैं, उन यूनिवर्सिटी को ज्यादा स्वायत्तता देने का फैसला हुआ है। इस संबंध में निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि 62 एजुकेशन इंस्टिट्यूट में 5 सेंट्रल यूनिवर्सिटी, 21 स्टेट यूनिवर्सिटी, 24 डीम्ड यूनिवर्सिटी और 2 प्राइवेट यूनिवर्सिटी हैं। ज्यादा स्वायत्तता का मतलब यह है कि इन्हें हर फैसले के लिए यूजीसी नहीं आना पड़ेगा। ये यूजीसी की परिधि में रहेंगे लेकिन नए कोर्स शुरू करने के लिए यूजीसी के पास आने की जरूरत नहीं होगी। ऑफ कैंपस सेंटर शुरू करने की इजाजत भी दे दी गई है। ये संस्थान रिसर्च पार्क शुरू कर सकेंगे। फॉरेन फैकल्टी भी ले सकते हैं। फॉरेन स्टूडेंट्स लेने की छूट भी इन्हें होगी। अच्छी फैकल्टी रखने के लिए ये वैरिएबल पे भी दे सकते हैं यानी 7वें वेतन आयोग से ज्यादा इंसेंटिव दे सकते हैं। इन्हें दुनियाभर की अच्छी यूनिवर्सिटी के साथ अकैडमिक कॉलोबरेशन की भी छूट होगी। साथ ही ऑनलाइन कोर्स भी शुरू कर सकेंगे। जावड़ेकर ने बताया कि 8 ऑटोनॉमस कॉलेज को भी ज्यादा छूट दी गई है। ये अब खुद अपना सिलेबस तय कर सकते हैं, एग्जाम ले सकते हैं और रिजल्ट भी जारी कर सकते हैं, सिर्फ डिग्री यूनिवर्सिटी की रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here