अमेरिका में फेड रेट बढ़ने से शेयर बाजार की सपाट शुरुआत, सुस्त चाल से खुला सेंसेक्स

0
128

गुरुवार को अमेरिका में फेडरल रिजर्व द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी करने का असर भारतीय शेयर बाजार में भी देखने को मिला। सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में सपाट शुरुआत देखने को मिली। सेंसेक्स 75 अंकों की मामूली बढ़ोतरी के साथ 33211 के स्तर पर कारोबार करते हुए देखा गया। वहीं निफ्टी में भी केवल 29 अंकों की बढ़त के साथ 10185 पर कारोबार करते हुए देखा गया।
मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी हल्का दबाव ही नजर आ रहा है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.2 फीसदी बढ़ा है, जबकि निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स सुस्त है। बीएसई के स्मॉलकैप इंडेक्स में 0.25 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है।
मिडकैप शेयरों में आरकॉम, आईआईएफएल, इमामी लिमिटेड, वक्रांगी, गोदरेज एग्रोवेट, सेल, अडानी पावर, फ्यूचर रिटेल, आईडीबीआई, नेशनल एल्युमीनियम, रिलायंस कैपिटल, पीईएल, 10.02-3.37 फीसदी तक बढ़े हैं।
फेड ने बढ़ाई दरें
अमेरिकी फेडरल रिजर्व के दरें बढ़ाने के बाद अमेरिकी बाजारों में गिरावट देखने को मिली है। फेड के दरें बढ़ाने के बाद अमेरिकी बाजार दिन के निचले स्तरों के पास बंद हुए। यूएस फेड ने दरों में 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी की है। अमेरिका में ब्याज दरें बढ़कर 1.5-1.75 फीसदी हो गई हैं। यूएस फेड ने इस साल कम से कम 2 बार और दरें बढ़ाने के संकेत दिए हैं। साथ ही यूएस फेड ने दरें बढ़ाने के साथ जीडीपी अनुमान भी बढ़ाया है।
यूएस फेड ने 2019 में दरों का अनुमान 2.7 फीसदी से बढ़ाकर 2.9 फीसदी किया है। साथ ही आने वाले महीनों में महंगाई बढ़ने का भी अनुमान है। बता दें कि नए यूएस फेड चेयरमैन जिरोम पॉवेल की अध्यक्षता में यह पहली बैठक थी। जिरोम पॉवेल ने कहा कि महंगाई का दवाब धीरे-धीरे बढ़ रहा है और मंहगाई 2 फीसदी के लक्ष्य की ओर बढ़ रही है, लेकिन इकोनॉमी का आउटलुक बेहतर हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here