आंध्र को विशेष राज्य और कावेरी जल बंटवारे पर हंगामा, 14वें दिन भी दोनों सदन स्थगित

0
122

बजट सत्र के दूसरे चरण में संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही लगातार बाधित होती रही। गुरुवार को भी दोनों सदन दिन भर के लिए स्थगित कर दिया गया। संसद + की कार्यवाही शुरू होने से पहले ही आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने के लिए टीडीपी सांसद हंगामा करने लगे। एआईएडीएमके और टीआरएस के सांसदों की ओर से कावेरी वॉटर ट्राइब्यूनल और पोलावरम प्रॉजेक्ट के मुद्दों पर हंगामे के बाद संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी। लोकसभा 12 बजे तक के लिए और राज्यसभा शुक्रवार की कार्यवाही शुक्रवार तक के लिए स्थगित करनी पड़ी।
वाईएसआर कांग्रेस + और टीडीपी लगभग एक सप्ताह से प्रतिदिन निर्धारित फॉर्मेट में अविश्वास प्रस्ताव पेश कर रही हैं और अधिकतर विपक्षी दलों ने इस प्रस्ताव को समर्थन दिया है। 50 से अधिक सांसद प्रस्ताव स्वीकार करने के लिए जरूरी न्यूनतम समर्थन देने के लिए नियमित तौर पर खड़े होते हैं। बावजूद इसके सांसदों के हंगामे और शोर-शराबे के कारण लगातार संसद की कार्यवाही स्थगित होती रही है।
मोदी सरकार के खिलाफ वाईएसआर कांग्रेस-टीडीपी सांसदों के अविश्वास प्रस्ताव को अभी तक लोकसभा में स्वीकार नहीं किया जा सका। एक तरफ जहां संसद में हंगामे के कारण कामकाज ठप्प रहा तो दूसरी तरफ कांग्रेस और बीजेपी सदन के बाहर एक-दूसरे को आड़े हाथों ले रही हैं। फेसबुक डेटा लीक और कैंब्रिज ऐनालिटिका के साथ सांठ-गांठ को लेकर दोनों दल एक-दूसरे पर गंभीर आरोप लगा रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here