महात्मा बुद्ध की उपदेश स्थली देखेंगे जर्मनी के राष्‍ट्रपति फ्रैंक वॉल्‍टर, वाराणसी दौरा आज

0
94

वाराणसी
फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के बाद अब जर्मनी के राष्‍ट्रपति फ्रैंक वॉल्‍टर स्‍टाइनमायर भी मंगलवार को वाराणसी का दौरा करेंगे। गुरुवार को होने वाले अपने एक दिवसीय प्रवास के दौरान जर्मनी के राष्‍ट्रपति आठ घंटे से ज्‍यादा समय तक वाराणसी में रहेंगे। इस दौरान वह बौद्धिक धर्मस्थल सारनाथ में महात्मा बुद्ध की अस्थियों का दर्शन करेंगे।
तय प्रोटोकॉल के मुताबिक, जर्मन राष्ट्रपति इस दौरे के बीच बीएचयू में छात्रों से संवाद भी करेंगे और इसके बाद गंगा आरती में भी सम्मिलित होंगे। प्रशासन को मिले प्रोटोकॉल के मुताबिक जर्मन राष्‍ट्रपति गुरुवार की सुबह 11.40 बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगे, जहां प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ उनका स्वागत करेंगे। इसके बाद जर्मन राष्ट्रपति वाराणसी के गेटवे होटेल जाएंगे, जहां से उनका काफिला सारनाथ पहुंचेगा।
सारनाथ में महात्मा बुद्ध की अस्थियों के दर्शन
सारनाथ में जर्मन राष्ट्रपति महात्मा बुद्ध की अस्थियों के दर्शन करेंगे। इसके साथ ही वह पुरातत्व खंडहर परिसर में प्राचीन मूलगंध कुटी का दर्शन, धम्मेख और धर्मराजिका स्तूप के साथ पुरातात्विक संग्रहालय में रखे अशोक स्तंभ के साथ अन्य अवशेषों का भी अवलोकन करेंगे।इसके बाद वह काशी हिन्दू विश्वविद्यालय पहुंचेंगे।
यहां पहुंचने के बाद जर्मन राष्ट्रपति बीएचयू के 41 छात्रों को संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम के बाद वह गंगा में नौका विहार और फिर गंगा आरती में शामिल होंगे। नौका विहार के दौरान दो सौ से अधिक छात्र काशी के घाटों पर जर्मन प्रेजिडेंट को शहर की संस्कृति से रूबरू भी कराएंगे।
बीएचयू में 41 छात्रों को संबोधित करेंगे
जर्मन प्रेजिडेंट के आगमन के लिए वाराणसी में प्रशासन और केंद्र सरकार की ओर से कई खास इंतजाम किए गए हैं। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की तरह जर्मन प्रेजिडेंट के कार्यक्रम को भी खास बनाने की तैयारी की गई है। हालांकि यह जरूर है कि इस दौरे में पीएम मोदी शामिल नहीं होंगे।
जर्मनी के राष्ट्रपति के दौरे को देखते हुए बुधवार देर शाम कार्यक्रम का पूर्वाभ्यास किया गया। इस दौरान जर्मन सुरक्षा दल ने कार्यक्रम स्थलों का जायजा लेते हुए बीएचयू के संवाद कार्यक्रम और सारनाथ में हुई तैयारियों की समीक्षा की। बीएचयू के प्रशासन की ओर से अब तक मीडिया को जर्मन प्रेजिडेंट के संवाद कार्यक्रम के स्थान की जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई है।
जर्मन प्रेजिडेंट को खास तोहफा
काशी के शिल्‍पी जर्मनी के राष्‍ट्रपति का सारनाथ में खास उत्‍पादों से स्‍वागत करेंगे। महाबोधि सोसायटी ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित स्‍वागत समारोह में राष्‍ट्रपति को लकड़ी की बनी बुद्ध प्रतिमा व पीपल के पत्ते संग बुद्धं शरणं गच्‍छामि अंकित सिल्‍क का दुपट्टा भेंट किया जाएगा।
रामकटोरा निवासी चंद्रप्रकाश विश्‍वकर्मा की बनाई 12 इंच चौड़ी और 18 इंच की बुद्ध प्रतिमा सारनाथ के बौद्ध मंदिर में स्‍थापित प्रतिमा की प्रतिकृति है, जिसे की जर्मन प्रेजिडेंट को उपहार स्वरूप दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here