9 शहरों में इलेक्ट्रिक बसें सप्लाइ करेंगी टाटा मोटर्स, गोल्डस्टोन इंफ्राटेक

0
110

नई दिल्ली
हैदराबाद की गोल्डस्टोन इंफ्राटेक के चीन की BYD के साथ जॉइंट वेंचर और टाटा मोटर्स ने देश के 9 शहरों में इलेक्ट्रिक बसों की सप्लाइ का कॉन्ट्रैक्ट हासिल किया है। इस कॉन्ट्रैक्ट की दौड़ में महिंद्रा ऐंड महिंद्रा, आयशर मोटर्स और JBM सोलारिस भी शामिल थीं। दोनों कंपनियों की ओर से दी गई विजयी बोली मार्केट प्राइस से लगभग 30 गुना कम है।इनकी प्रतिद्वंद्वी कंपनियों का कहना है कि इस वैल्यू पर इलेक्ट्रिक बसों की सप्लाई से मुनाफा नहीं होगा और इतनी कम बिड कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने के लिए दी गई हैं।केंद्र सरकार के हैवी इंडस्ट्रीज डिपार्टमेंट की FAME स्कीम के तहत इलेक्ट्रिक बसों की कीमत का बड़ा हिस्सा राज्यों को दिया जाएगा। इसी योजना के तहत 10 शहरों ने पिछले दो महीनों में इलेक्ट्रिक बसों के लिए टेंडर मंगाए थे। टाटा मोटर्स ने छह शहरों- जयपुर, इंदौर, लखनऊ, कोलकाता, जम्मू और गुवाहाटी को 190 बसों की सप्लाई के लिए सबसे कम बिड दी है।गोल्डस्टोन इंफ्राटेक और चीन की BYD के ज्वाइंट वेंचर को मुंबई, बेंगलुरु और हैदराबाद को 290 बसों की सप्लाई का कॉन्ट्रैक्ट मिला है।इसके अलावा अशोक लीलैंड ने अहमदाबाद में 40 इलेक्ट्रिक बसों की सप्लाई का कॉन्ट्रैक्ट हासिल किया है। दिल्ली ने अभी तक 700 इलेक्ट्रिक बसें खरीदने के लिए टेंडर नहीं दिया है।
FAME स्कीम के तहत शहरों को सीधे खरीद या सप्लाई-ऑपरेट बेसिस पर इलेक्ट्रिक बसें लेने के लिए 60 पर्सेंट सब्सिडी दी जाएगी। सूत्रों ने बताया कि 10 शहरों में टेंडर की शर्तें अलग होने के कारण सीधे खरीद और सप्लाई-ऑपरेट मॉडल में कीमतों का काफी अंतर है।टाटा मोटर्स ने कोलकाता के लिए वेस्ट बंगाल ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन की ओर से दिए गए 40 बसों के कॉन्ट्रैक्ट के लिए 77 लाख रुपये प्रति बस की सबसे कम बिड दी थी। एक ऑटोमोबाइल कंपनी के एग्जिक्यूटिव ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा, ‘टाटा मोटर्स की ओर से दिया गया प्राइस बहुत सी ऑटोमोबाइल कंपनियों के लिए नुकसान वाला है। कर्नाटक में गोल्डस्टोन-BYD के मुकाबले में कॉन्ट्रैक्ट गंवाने के बाद टाटा मोटर्स ने 77 लाख रुपये प्रति बस की बिड के साथ कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने की कोशिश की थी।’
हालांकि, टाटा मोटर्स के प्रेसिडेंट (कमर्शल वीइकल बिजनस), गिरीश वाघ ने बताया कि कंपनी प्रॉफिटेबिलिटी को लेकर स्पष्ट नजरिया रखती है और इस सेक्टर में इनवेस्टमेंट करने के लिए प्रतिबद्ध है। उनका कहना था, ‘हमने छह शहरों के लिए कॉन्ट्रैक्ट हासिल किया है। इससे टाटा मोटर्स ट्रांसपॉर्ट को पब्लिक ट्रांसपॉर्ट के इलेक्ट्रिफिकेशन के अभियान में सबसे बड़ी कंपनी बन गई है। टाटा मोटर्स पिछले एक दशक से इलेक्ट्रिक वीइकल्स के रिसर्च और डिवेलपमेंट में काफी इनवेस्टमेंट कर रही है।’
गोल्डस्टोन-BYD ने सप्लाई-ऑपरेट बेसिस पर बेंगलुरु के लिए 29.28 रुपये प्रति किलोमीटर और हैदराबाद के लिए 36 रुपये प्रति किलोमीटर की सबसे कम बिड के साथ कॉन्ट्रैक्ट हासिल किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here