स्मृति का एक्टिंग से राजनीति तक का सफर, कभी डिलीवरी के 2 दिन बाद लौटी थी काम पर

0
145

नेशनल डेस्कः सूचना एंव प्रसारण मंत्रालय और कपड़ा मंत्रालय संभाल रही स्मृति ईरानी आज अपना 42वां जन्मदिन मना रही हैं। 23 मार्च 1976 को दिल्ली में जन्मी ईरानी को एक्टिंग से राजनीति तक का सफर तय करने में ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ा। वे खुद कहती हैं कि टीवी ने उन्हें ऐसी पहचान दी कि जिससे राजनीति में आने का प्लेटफॉर्म दिया और मैं इसके लिए हमेशा टीवी की आभारी रहूंगी। 1998 में मिस इंडिया कॉन्टेस्ट की फाइनलिस्ट रही स्मृति ने कई म्यूजिक वीडियोज में भी काम किया। उन्होंने मीका सिंह के एल्बम ‘सावन में लग गई आग’ के गाने ‘बोलियां’ में भी परफॉर्म किया। इसके बाद वे पॉपुलर सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी” के लिए जब सिलेक्ट हुई तो घर-घर में उनकी अलग पहचान बन गई। आज भी कई लोग उन्हें तुलसी के नाम से जानते हैं।
स्मृति ने एक इवेंट में बताया था कि जब वे ‘क्योंकि सास भी कभी थी’ की शूटिंग कर रही थी तो अचानक लेबर पेन शुरू हो गया। मुझे अस्पताल में ले जाया गया। तभी सुबह 6 बजे प्रोडक्शन हाऊस का फोन आया कि शूटिंग के लिए कब आ रही हो। इस पर स्मृति के पति ने बताया कि उसके बेबी हुआ है वो 2-3 दिन तक शूटिंग नहीं कर पाएंगी। प्रोडक्शन हाऊस ने कहा ठीक है 72 घंटे बाद काम शुरू करते हैं। स्मृति के साथ इस दौरान इवेंट में एकता कपूर भी मौजूद थीं। स्मृति ने हंसते हुए एकता की तरफ इशारा किया और कहा कि इन्होंने मुझे डिलीवरी के दो दिन बाद ही सेट पर बुला लिया।
स्मृति ईरानी ने 2003 में भाजपा ज्वाइन की। 2004 में उन्हें महाराष्ट्र की यूथ विंग का वाइस प्रेसिडेंट बनाया गया। बता दें कि मोदी सरकार आने पर स्मृति को पहले मानव संसाधन और विकास मंत्रालय सौंपा गया था। अब वे सूचना और प्रसारण मंत्रालय संभाल रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here