अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट न खेलकर काउंटी में खेलेंगे कोहली

0
119

मुंबई
बीते 5 सालों में विराट कोहली के बल्ले ने भले ही दुनिया भर में अपनी धाक जमाई हो, लेकिन जब नाम इंग्लैंड का आता है, तो कोहली का प्रदर्शन यहां फीका नजर आता है। टीम इंडिया के कप्तान ने इंग्लैंड में 5 टेस्ट खेलकर 13.40 की औसत से सिर्फ 134 रन बनाए हैं। इसलिए कोहली इस बार इंग्लैंड में अपने प्रदर्शन को लेकर गंभीर दिख रहे हैं। विराट ने फैसला किया है कि वह भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाले एकमात्र टेस्ट में हिस्सा नहीं लेंगे और इस दौरान वह इंग्लैंड जाकर काउंटी क्रिकेट में हिस्सा लेंगे।भारत को इस साल इंग्लैंड दौरे पर 5 टेस्ट, 3 वनडे और 3 टी20 मैच खेलने हैं। इसी को ध्यान में रखकर विराट कोहली जून में अफगानिस्तान के खिलाफ खेले जाने वाले एक मात्र टेस्ट में नहीं खेलेंगे। भारतीय कप्तान ने इस दौरान इंग्लैंड में जाकर सरे की टीम के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने का फैसला लिया है। विराट ने यह फैसला इंग्लैंड दौरे से पहले वहां की परिस्थितियों के साथ तालमेल बनाने के लिए किया है।टीम इंडिया इंग्लैंड में 1 अगस्त से एजबेस्ट में अपने टेस्ट अभियान की शुरुआत करेगी। पिछली बार इंग्लैंड दौरे पर फ्लॉप हुए कोहली इस बार इस दौरे पर पूरी तरह फोकस हैं और इसी को ध्यान में रखकर वह 14 जून से अफगानिस्तान के खिलाफ बेंगलुरु में खेले जाने वाले एकमात्र टेस्ट मैच में हिस्सा नहीं लेंगे। आईपीएल का सीजन खत्म होने के बाद कोहली सीधे लंदन की इस (सरे) काउंटी टीम में खेलने के लिए रवाना होंगे।उधर टीम इंडिया में नई वॉल के रूप में उभर रहे युवा बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा भी अपनी काउंटी टीम यॉर्कशायर को अपना और अधिक समय देना पसंद करेंगे। जून में सरे की टीम को यॉर्कशायर के खिलाफ मैच खेलना है, तो ऐसा भी संभव है कि कोहली और पुजारा एक-दूसरे के खिलाफ इस काउंटी सीजन में खेलते दिखें। काउंटी क्रिकेट के जरिए इंग्लैंड में भारत की तैयारी को लेकर यह अच्छा मौका है।इस काउंटी सीजन की शुरुआत में सरे की टीम को 4 दिवसीय तीन मैच 9 जून से 28 जून के बीच खेलने हैं। सरे को अपने यह मैच हैम्पशायर, समरसेट और यॉर्कशायर के खिलाफ खेलने हैं। माना जा रहा है कि विराट कोहली इन तीनों मैचों के लिए सरे की टीम से खेलने के लिए उपलब्ध रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here