जेएनयू के प्रफेसर राकेश भटनागर बने काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के नए कुलपति

0
121

वाराणसी
काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में 7 महीने के इंतजार के बाद शुक्रवार शाम नए कुलपति की नियुक्ति कर दी गई। बीएचयू के कुलपति की नियुक्ति के लिए बनाई गई सर्च कमिटी की सिफारिश पर राष्ट्रपति के अनुमोदन के बाद शुक्रवार शाम जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्रफेसर राकेश भटनागर को विश्वविद्यालय का नया वाइस चांसलर नियुक्त किया गया है।प्राप्त जानकारी के अनुसार बीएचयू प्रशासन को इस संबंध में शुक्रवार देर शाम मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से सूचना दे दी गई है, जिसके बाद नए कुलपति के आगमन को लेकर विश्वविद्यालय परिसर में तैयारियों का दौर शुरू कर दिया गया है। बता दें कि 26 नवंबर 2017 को काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में निवर्तमान कुलपति प्रफेसर गिरीश चंद्र त्रिपाठी का कार्यकाल समाप्त होने के बाद से ही कुलपति का पद रिक्त था। अब तक विश्वविद्यालय के कुलसचिव नीरज त्रिपाठी ही कुलपति का कामकाज देख रहे थे।
जेएनयू के स्कूल ऑफ बायोटेक्नॉलजी में रहे हैं प्रफेसर
बीएचयू के नवनियुक्त कुलपति प्रफेसर राकेश भटनागर अब तक जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के स्कूल ऑफ बायोटेक्नॉलजी के डीन के रूप में काम कर रहे हैं। इससे पूर्व प्रफेसर भटनागर कुमाऊं विश्वविद्यालय, नैनीताल के कुलपति भी रह चुके हैं। जैव प्रद्यौगिकी के क्षेत्र में एक प्रतिष्ठित वैज्ञानिक के रूप में जाने जाते हैं। साल 2016 में प्रफेसर भटनागर को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के द्वारा उनके शोध कार्यों के लिए सम्मानित भी किया जा चुका है।
पिछले कुछ दिनों में विवादों में रहा है विश्वविद्यालय
गौरतलब है कि प्रफेसर भटनागर की नियुक्ति उस वक्त हुई है जब कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय पिछले कुछ महीनों में हिंसा और छात्रों के विरोध प्रदर्शनों के कारण विवादों में रहा है। ऐसे में यह माना जा रहा है कि प्रफेसर भटनागर के सामने विश्वविद्यालय में सुरक्षा और शिक्षा के विकास संंबंधी तमाम विषयों पर कुशल समन्वयन एक बड़ी चुनौती बन सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here