सीपीएम का बदला रुख, बीजेपी को हराने के लिए देगी कांग्रेस को समर्थन

0
109

कन्नूर
कांग्रेस से गठबंधन को लेकर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीएम) के अंदर असमंजस की स्थित बनी हुई है। अभी तक इस बात के खिलाफ खड़े पार्टी के पूर्व महासचिव प्रकाश करात ने कहा है कि बीजेपी को हराने के लिए पार्टी को जो करना पड़ेगा, पार्टी करेगी, चाहे कांग्रेस को समर्थन ही क्यों न देना पड़े।अपने मुखपत्र ‘पीपल्स डिमॉक्रेसी’ में करात ने एक संपादकीय में लिखा है, ‘उत्तर प्रदेश के उपचुनाव भविष्य के लिए एक सीख देते हैं कि बीजेपी को कैसे हराया जा सकता है। अगर सभी बड़ी गैर-बीजेपी पार्टियां एक साथ आ जाएं तो छोटी पार्टियों का समर्थन भी उन्हें मिल जाएगा।’इससे पहले करात ने केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन समेत पार्टी के प्रभावी नेताओं के साथ पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी का कांग्रेस से गठबंधन को लेकर विरोध किया था। पार्टी ने साल की शुरुआत में एक ड्राफ्ट तैयार किया था कि जिसमें कांग्रेस के साथ गठबंधन की संभावनाओं को खारिज किया था।पार्टी के इस खेमे ने अपना रुख नरम किया है और अब मान लिया है कि विपक्ष के वोटों में बंटवारे से बीजेपी को फायदा होगा। पार्टी नेतृत्व ने इस बात पर भी जोर दिया है कि सभी राज्यों में गैर-बीजेपी वोटों को इकट्ठा करने की भी जरूरत है।करात के संपादकीय से इस बात की ओर भी इशारा जाता है कि पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में, जहां लेफ्ट को हार का मुंह देखना पड़ा है, वहां पार्टी गैर-बीजेपी दलों के साथ आ सकती है। वहीं हाल ही में शुरू हुई फेडरल फ्रंट बनाने की कोशिश पर करात ने कहा है कि बीजेपी को हराने के लिए जिस तरह का फेडरल फ्रंट तेलंगाना के सीएम केसी राव बना रहे हैं, वैसा कुछ बनाने से कोई सफलता नहीं मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here