मैड माइक: धरती को चपटा साबित करने के लिए खुद को रॉकेट संग किया लॉन्च

0
147

कैलिफॉर्निया
सुनने-पढ़ने में आपको यह अजीब लग सकता है लेकिन यह सच है कि एक शख्स ने खुद के बनाए रॉकेट से ही खुद को आसमान में लॉन्च कर लिया है। अमेरिका के कैलिफॉर्निया में रहने वाले 61 वर्षीय माइक हग्स ने यह कारनामा कर दिखाया है। माइक काफी समय से यह साबित करना चाहते थे कि धरती का आकार गोल नहीं बल्कि चपटा है।
लिमोज़ीन (लंबी गाड़ी) ड्राइव करने वाले माइक ने मोबाइल होम को रैंप में बदला और फिर उसमें लॉन्च से जुड़े बदलाव किए ताकि वह नीचे न गिरें। माइक ने यह रॉकेट अपने गैराज में तैयार किया है। पैराशूट खोलने से पहले माइक ने 350 मील प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरी और वह 1 हजार 875 फीट की ऊंचाई तक पहुंचे। इसके बाद उन्होंने मोजावे रेगिस्तान में लैंड किया।
माइक का मानना है कि यह धरती चपटी है और अपने इस विश्वास को पक्का करने के लिए ही माइक अंतरिक्ष में जाना चाहते हैं। इसके लिए ही उन्होंने घर में पड़े कबाड़ से रॉकेट तैयार किया है। यह उड़ान उनके इस प्रोग्राम का पहला फेज था। हग्स का आखिरी लक्ष्य लॉन्च के जरिए धरती से मीलों दूर पहुंचना है, जहां से वह एक ऐसी तस्वीर खींच सकें जो पृथ्वी के आकार को लेकर उनकी थिअरी को साबित कर सके। माइक ने पहला मानव चलित रॉकेट साल 2014 में बनाया था जो एक चौथाई मील उड़ने में कामयाब रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here