एक और घोटाला, फर्जी दस्तावेज के जरिये IDBI बैंक को लगाया 772 करोड़ का चूना

0
350

पंजाब नेशनल बैंक में सामने आए 13 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के घोटाले के बाद लगातार बैंक घोटालों के सामने आने का सिलस‍िला जारी है. पीएनबी, एसबीआई के बाद अब आईडीबीआई बैंक में भी एक नया घोटाला सामने आया है. आईडीबीआई बैंक में फर्जी दस्तावेजों के जरिये 772 करोड़ रुपये का फ्रॉड करने का मामला उजागर हुआ है. यह फ्रॉड बैंक की आंध्र प्रदेश और तेलंगाना स्थ‍ित 5 शाखाओं में सामने आया है. सीबीआई ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है. आईडीबीआई ने इस घोटाले की जानकारी बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में फाइलिंग में दी है. बैंक ने बताया कि ये फ्रॉड लोन के जरिये किया गया है. इनमें से कुछ लोन साल 2009 से 2013 के दौरान लिए गए थे. ये लोन फिश फार्मिंग के लिए लिये गए हैं. बैंक ने कहा कि इसमें से कुछ लोन फर्जी दस्तावेज के आधार पर लिया गया था. बैंक ने बताया कि इन फर्जी दस्तावेजों में कुछ तालाब के पट्टों के थे. हालांकि इन पट्टों का वास्तव में अस्त‍ित्व था ही नहीं. यही नहीं, फर्जीवाड़ा करने वालों ने गिरवी रखी गई संपत्त‍ि की वैल्यू भी बढ़ा-चढ़ा कर बताई थी.पंजाब नेशनल बैंक की तरह ही इस मामले में भी बैंक के कर्मचारियों का हाथ बताया जा रहा है. बैंक ने बताया कि इस मामले में दिए गए लोन की प्रोसेसिंग और वितरण में कई खामियां सामने आई हैं. उसने इस कर्ज को देने वाले एक अध‍िकारी को बर्खास्त कर दिया है. वहीं, दूसरे अध‍िकारी सेवानिवृत्त हो चुके हैं. बैंक ने बताया कि फर्जीवाड़े की ऐसी 5 श‍िकायतों में से 2 मामलों में केस दर्ज कर लिया गया है. ये दोनों मामले बैंक की बशीरबाग और गुंटूर ब्रांच से जुड़े हैं.
बैंक के शेयर गिरे
बैंक में फर्जीवाड़े की खबर सामने आने के बाद आईडीबीआई बैंक के शेयर टूट गए. बैंक के शेयरों में 3 फीसदी से ज्यादा गिरावट दर्ज की गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.