जम्मू-कश्मीरः आतंक के खिलाफ ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ जारी, राजौरी में 4 आतंकी ढेर

0
154

जम्मूः जम्मू कश्मीर में आतंकियों के सफाए में लगे भारतीय सुरक्षाबलों के जवानों को राजौरी जिले के सुंदरबनी में बड़ी कामयाबी मिली. यहां आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में भारतीय सुरक्षाबलों ने 4 आतंकियों को मार गिराया है. राजौरी के जिला अधिकारी शाहिद चौधरी खुद ट्वीट कर इस खबर की जानकारी दी. राजौरी में बुधवार सुबह से ही सुरक्षा बलों और कुछ आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई थी. इन आतंकवादियों ने चार से पांच दिन पहले एलओसी से घुसपैठ की थी और कई दिनों के तलाशी अभियान के बाद इनके सुंदरबनी तहसील में होने का पता चला था. इसके साथ ही अधिकारियों ने सीआरपीएफ के एक शिविर पर आतंकवादी हमले की खबरों को खारिज किया लेकिन ऐहतियाती उपाय के तौर पर तहसील में सभी शैक्षिक संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया. बता दें कि पिछले साल से जम्मू कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑलआउट चलाए हुए है. इस अभियान के तहत पिछले साल ही 200 से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया गया था. इस दौरान जम्मू कश्मीर में आतंक का पर्याय बने कई बड़े आतंकियों का सफाया किया गया था. इस साल जनवरी के बाद से भी कई आतंकियों का एनकाउंटर में सफाया किया जा चुका है. इससे पहले जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने मीडिया से कहा, ‘‘ नौशेरा और सुंदरबनी क्षेत्र के बीच बुधवार को सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों के होने का पता लगा जिसके बाद उनसे मुठभेड़ शुरू हो गई.’’ उन्होंने आतंकवादियों की ओर से कोई आतंकवादी हमला किये जाने की खबरों को खारिज किया और उन्हें‘‘ पूरी तरह से झूठ’’ करार दिया. राजौरी के एसएसपी युगल मन्हास ने इस बारे में और जानकारी देते हुए बताया कि सुंदरबनी में सीआरपीएफ के एक शिविर के बाहर से गोली बारूद के तीन बैग बरामद किये गए. खबरों के अनुसार सुंदरबनी क्षेत्र के सोदरा स्थित सीआरपीएफ के एक शिविर के प्रवेश द्वार की सुरक्षा में तैनात एक सुरक्षाकर्मी ने अर्द्धसैनिक बल शिविर के पास कुछ संदिग्ध गतिविधि देखे जाने पर चेतावनी देने के लिए कुछ गोलियां चलाई और अलार्म बजाया. पुलिस और सुरक्षाबल के जवान उन आतंकवादियों का पता लगाने के लिए सुंदरबनी क्षेत्र में 4 से 5 दिन से तलाशी अभियान चला रहे थे जिनके घुसपैठ करने का संदेह था.
CRPF ने कैंप पर हमले की खबरों को किया खारिज
CRPF के जनसम्पर्क अधिकारी आशीष कुमार झा ने सीआरपीएफ शिविर पर हमले की खबरों को खारिज करते हुए कहा कि सुंदरबनी में अर्द्धसैनिक बल के शिविर पर ऐसा कोई हमला नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि सतर्क सैनिकों को कुछ संदिग्ध गतिविधि का पता चला था और उन्होंने चेतावनी देने के लिए कुछ गोलियां चलाई थीं. उन्होंने कहा, ‘‘ ऐहतियाती कदम के तौर पर बुधवार को सुंदरबनी डिविजन में स्कूल बंद रखे गए.’’
ग्रामीण के घर से खाना बनावा कर साथ ले थे आतंकी
खबरों में कहा गया है कि मंगलवार रात दो आतंकवादी सुंदरबनी के बुनपोरी… योगीनाल्लाह क्षेत्र में भूषण कुमार शर्मा के घर में घुसे थे और उन्हें भोजन तैयार करने के लिए बाध्य किया था. खबरों के अनुसार आतंकवादी वह भोजन अपने साथ ले गए थे. आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर में ऑपरेशन ऑलआउट के तहत जिन आतंकियों का सफाया किया गया है इनमे से कुछ सीमा पार कर घुसपैठ करके आए आतंकी थे तो कुछ कश्मीर के ही नौजवान थे जो आतंक के रास्ते पर चल निकले थे. हालांकि सेना द्वारा राज्य के भटके हुए नौजवानों को मुख्यधारा में लाने की भी भरसक कोशिशें की गई. जिसके तहत कई आतंकियों ने सरेंडर कर अपने मुख्य धारा में लौटने की इच्छा जाहिर की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here