फोर्टिस-मणिपाल के बीच डील, बनेगी भारत की सबसे बड़ी हॉस्पिटल चेन

0
140

नई दिल्ली
फोर्टिस हेल्थकेयर ने मंगलवार को कहा कि उसे मणिपाल हेल्थ एंटरप्राइजेज से कंपनी के साथ ट्रांजैक्शन के लिए एक नॉन-बाइंडिंग ऑफर मिला है। जिसे उन्होंने मंजूर कर लिया है। डील के होने से भारत की सबसे बड़ी हॉस्पिटल चेन बनने का रास्ता साफ हो गया। फोर्टिस को यह प्रस्ताव 23 मार्च 2018 को मिला था। इसके तहत फोर्टिस हेल्थकेयर अपनी हॉस्पिटल चेन को मणिपाल को बेच देगी।इससे पहले फोर्टिस हेल्थकेयर ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को बताया कि कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को एक अनसॉलिसिटेड नॉन-बाइंडिंग इंडिकेशन मणिपाल हेल्थकेयर एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड की ओर से मिला था, जिसमें कंपनी के साथ संभावित ट्रांजैक्शन में दिलचस्पी दिखाई गई है।फोर्टिस हेल्थकेयर के शेयर कंपनी के इस बयान के बाद करीब 4 पर्सेंट गिर गए। शेयर 3.55 पर्सेंट गिरकर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर 142.45 रुपये पर बंद हुआ। दिन में कारोबार के दौरान यह 4.26 पर्सेंट चढ़कर 154 रुपये पर चला गया था, लेकिन कंपनी की ओर से स्पष्टीकरण आने के बाद सारी बढ़त निकल गई। नैशनल स्टॉक एक्सचेंज पर कंपनी का शेयर 3.65 पर्सेंट गिरकर 142.25 रुपये पर बंद हुआ।
इक्विटी वॉल्यूम के लिहाज से बीएसई पर कंपनी के 32 लाख शेयरों में ट्रेडिंग हुई और कारोबार के दौरान एनएसई पर 3 करोड़ से ज्यादा शेयरों की खरीद-फरोख्त हुई। फोर्टिस हेल्थकेयर ने कहा कि उसने स्टॉक एक्सचेंजों को पहले ही बता दिया था कि शेयरधारकों ने कंपनी को 5000 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी दी है।इससे पहले ईटी ने खबर दी थी कि मणिपाल हॉस्पिटल एंटरप्राइजेज-टीपीजी कंसोर्शियम ने दो चरणों वाले एक ट्रांजैक्शन का प्रस्ताव दिया है, जिसके तहत फोर्टिस हेल्थकेयर को अपने हॉस्पिटल्स पोर्टफोलियो को एक अलग लिस्टेड इकाई बनाना होगा, जिसे खरीदार में मिला दिया जाएगा। वह एसआरएल डायग्नोस्टिक्स यूनिट का भी टेकओवर करेगी। यह बात घटनाक्रम की जानकारी रखने वालों ने ईटी को बताई। मणिपाल अभी अनलिस्टेड है, जो इस तरीके से लिस्ट हो जाएगी।इस डील का प्रस्ताव इसलिए दिया गया है क्योंकि देश में दूसरे नंबर की हॉस्पिटल चेन फोर्टिस हेल्थकेयर में फंड्स के कथित दुरुपयोग और रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शंस की सीरियस फ्रॉड इनवेस्टिगेशन ऑफिस (SFIO) और लॉ फर्म लूथरा एंड लूथरा की ओर से की जा रही जांच उम्मीद से लंबी खिंच रही है। इससे कंपनी के कामकाज और कैश फ्लो पर दबाव आ रहा है।प्रस्तावित ट्रांजैक्शन के तहत लिस्टेड फोर्टिस हेल्थकेयर को अपनी हेल्थकेयर डिवीजन को एक अलग अनलिस्टेड इकाई के रूप में अलग करना होगा। उसे फिर मणिपाल हॉस्पिटल में मिला दिया जाएगा, जिसमें अमेरिकी प्राइवेट इक्विटी फंड टीपीजी का करीब 20 पर्सेंट हिस्सा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here