पुलिस कस्टडी से फरार हुआ औरंगाबाद हिंसा का एक आरोपी

0
187

पटना
औरंगाबाद हिंसा के मामले में गिरफ्तार हुआ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का कार्यकर्ता अनिल सिंह गुरुवार को पुलिस कस्टडी से फरार हो गया। इससे पहले बिहार के औरंगाबाद और समस्तीपुर जिले में हुई सामुदायिक हिंसा के मामलों में मंगलवार तक 122 लोगों की गिरफ्तारी की गई थी।
औरंगाबाद में जहां कई गिरफ्तार हुए हैं वहीं समस्तीपुर के रोशेरा पुलिस थाना क्षेत्र में एक मस्जिद पर कथित रूप से पत्थर फेंके जाने को लेकर तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी। औरंगाबाद के डीएम रंजन महिवाल के मुताबिक, समाज विरोधी तत्वों के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई में 122 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था।
हिंसा के बाद एक बयान में उन्होंने कहा, ‘स्थिति अब पूरी तरह से नियंत्रण में है।’ उन्होंने कहा कि अफवाहों को रोकने के लिए सोमवार से इंटरनेट सेवा बंद की गई हैं। महिवाल ने कहा कि हिंसा से जुड़ी तीन एफआईआर में 500 से अधिक लोगों पर आरोप लगाया गया है। उन्होंने कहा, ‘सीसीटीवी फुटेज की मदद से पहचानकर उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है।’समस्तीपुर के रोशेरा में, मंगलवार सुबह भीड़ ने एक मस्जिद में कथित तौर पर पत्थर फेंके। पुलिस सूत्रों ने बताया कि सोमवार शाम मस्जिद के पास एक मूर्ति विसर्जन जुलूस पर चप्पल फेंक दिया गया था और मंगलवार को इसके जवाब में ही कथित पत्थरबाजी की गई। दरभंगा क्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक पंकज दराड़ ने इसे लेकर कहा कि जुलूस मस्जिद के करीब से जा रहा था, जब चप्पल की एक जोड़ी गलती से एक घर की छत से उसपर गिर गई। रोशेरा पुलिस थाने के एसएचओ डीएन सहाय ने कहा कि हिंसा को नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा बल फौरन भेजा गया था जिनमें से एएसपी और डीएसपी सहित 10 पुलिस घायल हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here