बीजेपी युवाओं का ध्यान भटकाने के लिए हिंसा भड़का रही है: तेजस्वी यादव

0
120

पटना
सांप्रदायिक हिंसा की आग में झुलस रहे बिहार को लेकर आरजेडी नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बीजेपी और आरएसएस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी युवाओं का ध्यान भटकाने के लिए हिंसा भड़काती है। इसके साथ ही तेजस्वी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत के हाल ही में हुए बिहार दौरे पर भी सवाल उठाए हैं।तेजस्वी ने ट्विटर पर अपने ऑफिशल अकाउंट पर लिखा, ‘हम युवाओं को नौकरी और बेरोजगारों को रोजगार की बात करते हैं तो बीजेपी ध्यान भटकाने के लिए हिंसा भड़काती है।’उन्होंने आगे लिखा, ‘मोदी जी बताएं बीजेपी के घोषणा पत्र के कितने वायदे इन्होंने पूरे किए है? युवाओं के साथ विश्वासघात क्यों किया?’ बता दें कि पश्चिम बंगाल, बिहार समेत देश के अलग-अलग हिस्सों से सांप्रदायिक झड़प की खबरें आ रही हैं।
बिहार के कई शहरों में सांप्रदायिक हिंसा, RJD ने बोला सरकार पर हमला
तेजस्वी यादव ने बिहार में हिंसा को लेकर आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मोहन भागवत हाल ही में 14 दिन के लिए बिहार आए थे। इन 14 दिनों में उन्होंने इस बात की ट्रेनिंग दी कि रामनवमी के दौरान कैसे हिंसा को भड़काना है। अब लोगों को उनके बिहार दौरे का अजेंडा समझ में आ रहा है।’
इससे पहले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने एक बयान में इस हिंसा के पीछे कांग्रेस का हाथ बताया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और राहुल गांधी की मानसिकता देश को टुकड़ों में बांटने वाली है। गिरिराज ने कहा, ‘बिहार, बंगाल और गुजरात में हुए दंगों के लिए कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी जिम्मेदार हैं। राहुल गांधी बहुरूपिया हैं और कांग्रेस की यह साजिश देश हित में नहीं है।’
बिहार: अब नवादा में भड़की हिंसा, पुलिस ने की हवाई फायरिंग
बिहार में औरंगाबाद और भागलपुर से सांप्रदायिक हिंसा की खबरों के बाद अब मुंगेर और समस्तीपुर में भी सांप्रदायिक हिंसा के बाद तनाव का माहौल है। हिंसा का दौर अब नवादा तक पहुंच गया है। शुक्रवार सुबह यहां सांप्रदायिक झड़प की खबर है। इस बीच औरंगाबाद में हिंसा के मामले में गिरफ्तार भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कार्यकर्ता अनिल सिंह गुरुवार को पुलिस कस्टडी से फरार हो गया। औरंगाबाद और समस्तीपुर समेत कई जिलों में हिंसा के आरोप में पुलिस ने सवा सौ से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया था।
देश में हिंदुओं को कमजोर करने की हो रही साजिश: गिरिराज
रामनवमी के जुलूस के दौरान भड़की हिंसा
सोमवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान औरंगाबाद में भी हिंसा भड़क गई थी। रामनवमी का जुलूस जब शहर के जामा मस्जिद इलाके से निकल रहा था तो आरोप है कि कुछ लोगों ने जुलूस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। उससे पहले भागलपुर में हिंदू पंचांग के अनुसार नए साल की शुरुआत होने पर निकाले गए एक जुलुस में लाउडस्पीकर तेज बजाने का एक समुदाय द्वारा विरोध किये जाने पर हिंसा भड़क उठी थी। आरोप है कि इस जुलूस का नेतृत्व बीजेपी नेता अश्विनी चौबे के बेटे शाश्वत कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here