गाजा संघर्ष: अमेरिका ने जताया दुख, संयुक्त राष्ट्र की आपात बैठक

0
137

वॉशिंगटन
शुक्रवार को गाजा में इजरायली सैनिकों से हिंसक झड़प में करीब 15 फिलिस्तीनियों की मौत हो गई, जबकि 500 से ज्यादा घायल हो गए।इन झड़पों से अमेरिका दुखी है। अमेरिका के विदेश विभाग की प्रवक्ता हीदर नोर्ट ने कहा कि इस्राइली सीमा के निकट गाजा में हुई झड़पों में 15 फिलिस्तीनियों की मौत और सैकड़ों लोगों के घायल होने की घटनाओं को लेकर उनका देश बहुत दुखी है। उन्होंने कहा कि अब अंतरराष्ट्रीय समुदाय ऐसे कदम उठाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है, जिससे फिलिस्तीनियों का जीवन सुधरेगा।बता दें कि साल 2014 के गाजा युद्ध के बाद एक दिन में हुआ यह भयानक संघर्ष था। इस्राइल की पूर्वी और उत्तरी सीमा सहित नाकेबंदी वाले इस क्षेत्र के विभिन्न स्थलों पर महिलाओं और बच्चे समेत फिलिस्तीनी लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। कुछ लोग कड़ी सुरक्षा वाली इस्राइली सीमा की तरफ बढ़ने लगे। इस क्षेत्र में तैनात सशस्त्र इस्राइली सैनिकों ने इन लोगों को पीछे खदेड़ने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल किया और गोली चलाई।गाजा में स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इस्राइली सुरक्षा बलों ने 16 फिलिस्तीनी नागरिकों को मार गिराया। गौरतलब है कि अमेरिका की योजना 14 फरवरी को यरूशलम में अपना दूतावास खोलने की है। संयोग से इसी दिन इस्राइल की स्थापना की 70वीं सालगिरह है। इस बात को लेकर फिलिस्तीनियों में गहरी नाराजगी है।वहीं इस मामले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने आपात बैठक बुलाने का फैसला किया है। इस बैठक में गाजापट्टी पर हुए संघर्ष को लेकर विचार-विमर्श किया जाएगा। संयुक्त राष्ट्र में कुवैत मिशन ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘कुवैत के अनुरोध पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद गाजा में नवीनतम प्रगति पर चर्चा के लिए शाम 6.30 बजे एक बैठक करेगी।’ कहा जा रहा है कि यह बैठक बंद कमरे में होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here