CBSE re-exam: 12वीं अर्थशास्त्र की परीक्षा 25 अप्रैल को, 10वीं पर फैसला अभी नहीं

0
76

सीबीएसई पेपर लीक मामले में मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 12वीं के अर्थशास्त्र की परीक्षा 25 अप्रैल को दोबारा कराने का फैसला किया है। इससे करीब पांच लाख छात्रों को फिर से तैयारी में जुटना होगा। हालांकि 10वीं के गणित की परीक्षा दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा को छोड़कर अन्य राज्यों के 13 लाख छात्रों को फिर से नहीं देनी होगी। एनसीआर-हरियाणा में भी दोबारा परीक्षा का फैसला 15 दिन में जांच के बाद होगा। जरूरत पड़ी तो यह परीक्षा जुलाई में आयोजित होगी।
शुरुआती जांच में पता चला है कि पेपर सिर्फ यहीं पर लीक हुआ। इस बीच झारखंड से एक और पटना से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। केंद्रीय स्कूली शिक्षा सचिव अनिल स्वरूप ने शुक्रवार को सीबीएसई के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद कहा कि छात्रों के हित में हमने अर्थशास्त्र का पेपर 25 अप्रैल को कराने का फैसला किया है, ताकि परीक्षा परिणाम समय से आ सकें और उन्हें आगे कहीं दाखिला लेने में परेशानी नहीं आए।
गौरतलब है कि 28 मार्च को पेपर लीक होने के बाद बोर्ड ने 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र के पेपर को रद्द कर दिया था। 10वीं का गणित का पेपर 28 मार्च को ही हुआ था जबकि 12वीं का अर्थाशास्त्र का पेपर 26 मार्च को आयोजित हुआ था। दोनों पेपरों के प्रश्न पत्र सोशल मीडिया पर लीक होने के बाद इन्हें कैंसल कर फिर से कराने का निर्णय लिया गया।
जांच जारी
सीबीएसई पेपर लीक मामले में झारखंड के चतरा से चार छात्रों को गिरफ्तार किया गया है। दूसरी ओर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को 25 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इनमें 13 स्कूली छात्र, 5 कॉलेज छात्र, 5 टय़ूशन पढ़ाने वाले शिक्षक और 2 अन्य शामिल हैं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी भरोसा जताया कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। केंद्र सरकार मामले की तह तक जाएगी।
गिरफ्तारी संभव
स्पेशल कमिश्नर आर.पी. उपाध्याय के मुताबिक क्राइम ब्रांच द्वारा गठित एसआईटी ने पूछताछ करने के बाद भी किसी को भी क्लीन चिट नहीं दी है। कुछ संदिग्धों की गिरफ्तारी भी संभव है। ओल्ड राजेंद्र नगर के एक कोचिंग सेंटर के संचालक विक्की और दस अन्य लोगों से खासतौर पर बार-बार पूछताछ की जा रही है।
नामी स्कूल के छात्र
झारखंड के चतरा में पुलिस ने दो नामी स्कूलों के चार छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार को उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। इन चारों छात्रों पर व्हाट्सएप के माध्यम से प्रश्नपत्र हासिल करने का संदेह जाहिर किया गया है।
सीबीएसई की प्रमुख अनीता करवाल ने कहा कि छात्र चिंता न करें, हम उनके साथ हैं। पुर्नपरीक्षा छात्रों के हित में हैं। तारीखों की घोषणा जल्द होगी।
छात्र संगठन एआईडीएसओ की दिल्ली इकाई ने उच्चस्तरीय जांच की मांग के साथ संसद मार्ग पर प्रदर्शन किया। साथ ही छात्रों व अभिभावकों से आंदोलन करने की अपील भी की।
परीक्षा प्रभारी से 4 घंटों तक हुई पूछताछ
जानकारी के अनुसार सीबीएसई की परीक्षा प्रभारी से पुलिस ने चार घंटों तक पूछताछ की है। जानकारी यह भी आ रही है कि करीब 1000 छात्रों तक पेपर पहुंचा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here