SC-ST एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विरोध में आज भारत बंद, पंजाब में सीबीएसई की परीक्षा टाली गई

0
233

नई दिल्ली. एससी-एसटी एक्ट के तहत दर्ज मामलों में तत्काल गिरफ्तारी पर रोक लगाने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में दलित संगठनों ने सोमवार को भारत बंद का एलान किया है। उधर, केंद्र सरकार आज इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटिशन दायर करेगी। उधर पंजाब में बंद के चलते सीबीएसई की की परीक्षाएं टाल दी गई हैं।
बंद का कहां क्या असर?
पंजाब: स्कूल-कॉलेज, बसें और इंटरनेट बंद, सीबीएसई 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं टाली गईं।
ओडिशा: ट्रेनें रोकी गईं।
बिहार:आरा, भागलपुर, फोरबिसगंज में ट्रेनें रोकी गईं। यहां वामपंथी संगठन भी बंद का समर्थन कर रहे हैं।
केंद्र क्या दलील दे सकता है?
– सूत्रों के मुताबिक, पिटिशन में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय की दलील होगी कि इस फैसले से एससी-एसटी एक्ट के प्रावधान कमजोर होंगे। लोगों में इस कानून का खौफ घटेगा, जिसकी वजह से इसके उल्लंघन के मामले भी बढ़ेंगे।
कांग्रेस ने कहा- सरकार ने केस ठीक से पेश नहीं किया
– कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, “निश्चित ही रिव्यू पिटीशन दायर करनी चाहिए, यह सरकार का हक है। हालांकि, असल सवाल यह है कि सरकार इस केस को सुप्रीम कोर्ट में ठीक ढंग से पेश करने में नाकाम क्यों रही, इसकी जांच होनी चाहिए।”
सुप्रीम कोर्ट ने क्या फैसला दिया था
– सुप्रीम कोर्ट ने 20 मार्च को जारी एक आदेश में एससी-एसटी एक्ट के दुरुपयोग पर चिंता जताते हुए इसके तहत तत्काल गिरफ्तारी या आपराधिक मामला दर्ज करने पर रोक लगा दी थी।
– कोर्ट ने एससी-एसटी एक्ट के तहत दर्ज होने वाले केसों में अग्रिम जमानत को भी मंजूरी दे दी थी।
– केंद्रीय मंत्रियों रामविलास पासवान और थावरचंद गहलोत की अगुआई में एससी-एसटी सांसदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर विरोध दर्ज करवाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here