राजस्थान: करौली में दो दलित नेताओं के घर फूंके गए, शॉपिंग मॉल पर भी हमला

0
172

करौली। एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ देशव्यापी भारत बंद का असर मंगलवार को भी कुछ इलाकों में देखने को मिला। राजस्थान के करौली में दो दलित नेताओं का घर जलाए जाने की खबर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजस्थान के करौली में बीजेपी की दलित विधायक राजकुमारी जाटव का घर जला दिया गया। बताया जा रहा है कि घटना के वक्त इलाके में करीब 40 हजार लोग इकट्ठा थे जिन्होंने कथित रूप से हमला बोला है। इसके अलावा करौली में ही एक पूर्व दलित मंत्री भरोसीलाल जाटव का घर फूंके जाने का मामला सामने आया है। कहा जा रहा है सोमवार को भारत बंद के दौरान प्रदर्शनकारियों ने बस में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की थी जिसके विरोध में उग्र भीड़ ने दलित नेताओं का घर फूंका। इसके अलावा एक शॉपिंग मॉल में भी तोड़फोड़ की गई है।
करौली में जमकर हुई थी लूटपाट
इससे पहले सोमवार को करौली के हिंडौनसिटी में बंद के दौरान भारी उत्पात की खबर थी। बंद समर्थकों ने बाजारों में जमकर लूटपाट और मारपीट की थी। इससे पूरे शहर में दहशत और भय का माहौल व्याप्त हो गया। भीड़ ने प्रदर्शन के दौरान पुलिस पर भी पथराव किया। उपद्रवियों ने कई एटीएम मशीन में भी तोड़फोड़ कर दी थी। भारत बंद के दौरान राजस्थान में सोमवार को हुई हिंसा में गोली लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। झड़प में एक पुलिसकर्मी समेत चालीस लोग घायल हुए थे। मृतक की पहचान पवन जाटव (28) के रूप में हुई थी।
सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका पर चल रही सुनवाई
उधर एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले के संदर्भ में केंद्र सरकार की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट इस मामले में त्वरित सुनवाई के लिए राजी हो गया है और इसके लिए आज दोपहर दो बजे का समय तय किया गया था। एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 2 अप्रैल को दलित संगठनों के भारत बंद में व्यापक हिंसा हुई। अलग-अलग जगहों पर 12 लोगों की मौत हो गई जबकि सैकड़ों घायल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here