US ने हाफिज के राजनीतिक मोर्चे को आतंकी संगठन घोषित किया

0
260

वॉशिंगटन
पाकिस्तान में आम चुनावों से पहले अमेरिका ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की राजनीतिक पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग (MML) को आतंकी संगठन घोषित कर दिया है। इतना ही नहीं अमेरिका ने MML के 7 सदस्यों को भी आतंकी घोषित किया है।अमेरिका ने सोमवार को तहरीक-ए-आजादी-ए-कश्मीर TAJK को भी आतंकी संगठनों की सूची में डाला है। TAJK को लश्कर-ए-तैयबा का फ्रंट माना जाता है, जो अमेरिका के मुताबिक पाकिस्तान में बिना रोक-टोक संचालित होता है। इससे एक दिन पहले ही पाकिस्तान चुनाव आयोग ने MML को राजनीतिक पार्टी के तौर पर पंजीकृत करने के लिए गृह मंत्रालय द्वारा दिया क्लियरंस सर्टिफिकेट पेश करने को कहा था।पाकिस्तान चुनाव आयोग ने पहले MML को राजनीतिक पार्टी के तौर पर पंजीकृत करने से मना कर दिया था, क्योंकि गृह मंत्रालय ने इसके प्रतिबंधित संगठनों से संबंध होने को लेकर आपत्ति जताई थी। अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा कि इस कदम का मकसद लश्कर-ए-तैयबा को उन संसाधनों तक पहुंचने से रोकना है जिससे वह अन्य आतंकी हमलों को अंजाम दे सके।विदेश विभाग में काउंटरटेररिजम के कोऑर्डिनेटर नैथन सेल्स ने कहा, ‘गलती न करें: लश्कर-ए-तैयबा खुदको कुछ भी कहे, वह एक हिंसक आतंकी समूह रहेगा। अमेरिका LeT को राजनीति में न आने देने के सभी प्रयासों का समर्थन करेगा। इस प्रतिबंध के बाद अब अमेरिका में मौजूद LeT की सभी संपत्तियों को जब्त करने का अधिकार होगा। LeT पाकिस्तान में बेखौफ संचालित होता है, रैलियां करता है, फंड जुटाता है और आतंकमी हमले की योजना बनाने के साथ ही ट्रेनिंग भी देता है।’अमेरिका ने 26 दिसंबर 2001 में ही लश्कर-ए-तैयबा को आतंकी संगठन घोषित किया था। इसके बाद संगठन के सरगना हाफिज को भी अमेरिका ने आतंकियों की सूची में डाला था। अमेरिकी विदेश विभान ने आरोप लगाया कि प्रतिबंधों से बचने के लिए LeT सालों से अपना नाम बदलता आ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.