दुबई में भी दुत्कारे गए पाकिस्तानी, पुलिस अफसर ने कहा- सिर्फ भारतीयों को ही नौकरी दें

0
119

पाकिस्तान और उनके नागरिकों के लिए यह समय बेहद कठिन साबित हो रहा है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बतौर राष्ट्र पाक की स्थिति बेहद दयनीय बनी हुई है, और अब उनके नागरिकों के लिए भी लगातार अनचाही खबरें आ रही हैं.पाकिस्तान के लिए खाड़ी देश हमेशा से सर्वसुलभ और उनका हितैषी माना जाता है, लेकिन अब यहां भी उनके लिए रास्ते बंद होते नजर आ रहे हैं. दुबई के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने ट्वीट कर भारतीयों की तारीफ की है, जबकि उन्होंने पाकिस्तानियों को जमकर लताड़ा.इस पुलिस अधिकारी ने पाकिस्तानी समुदाय को अशांति फैलाने के अलावा अपराध और स्मगलिंग करने वाला बताया जबकि भारतीयों को बेहद अनुशासित करार दिया. लेफ्टिनेंट जनरल और दुबई में सुरक्षा प्रमुख धाही खलफान ने यह ट्वीट ड्रग स्मगलिंग के मामले में पाकिस्तानियों के गैंग के पकड़े जाने के बाद किया.दूसरी ओर, पाकिस्तानी मीडिया का कहना है कि खलफान अपने विवादित ट्वीट के लिए जाने जाते हैं. शायद यही कारण है कि उनके पास करीब 2.66 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर्स हो गए हैं.खलिफान ने गिरफ्तार पाक नागरिकों की फोटो भी पोस्ट की और फिर कमेंट किया. उनके स्थानीय भाषा में लिखे कमेंट को यूएईवायरल डॉट कॉम ने अनुवाद किया जिसके अनुसार उन्होंने ट्वीट किया, ‘पाकिस्तानी खाड़ी समाज के लिए बड़ा खतरा बनते जा रहे हैं क्योंकि वे अपने साथ हमारे देश में ड्रग्स लेकर आ रहे हैं. हमें उन्हें अपने यहां प्रवेश नहीं करने देना चाहिए.’
हालांकि उनके ट्वीट की सबसे खास बात यह रही कि उन्होंने एक ओर पाकिस्तानी नागरिकों की जमकर आलोचना की तो भारतीय नागरिकों की तारीफ करते हुए बेहद अनुशासित बताया.उन्होंने ट्वीट किया, ‘भारतीय अनुशासित होते हैं, जबकि पाकिस्तानी समुदाय अशांति, अपराध और स्मगलिंग को बढ़ावा देता है.’ इस अधिकारी ने यहां तक कहा कि दुबई में किसी को भी पाकिस्तानी नागरिक को अपने यहां नौकरी पर नहीं रखा जाना चाहिए.दुबई के इस बड़े अधिकारी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘मैं अपने देश के नागरिकों से आह्वान करता हूं कि वे पाकिस्तानी नागरिकों को नौकरी न दें. पाकिस्तानी को नौकरी नहीं देना अब हमारा राष्ट्रीय कर्तव्य बन गया है.’ उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तानी नागरिक खाड़ी क्षेत्र के लिए खतरनाक होते जा रहे हैं.खाड़ी क्षेत्र में पाकिस्तानी नागरिकों की जगह पर भारतीय और बांग्लादेशी नागिरकों को नौकरी देने में वरीयता दी जाती रही है. 2016 में खाड़ी में पाक नागरिकों को नौकरी दिए जाने में गिरावट दर्ज की गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here