पटना हाईकोर्ट का बड़ा फैसला: PUSU अध्‍यक्ष दिव्‍यांशु भारद्वाज का निर्वाचन वैध

0
151

हाईकोर्ट ने पटना विश्‍वविद्यालय के नवनिर्वाचित अध्‍यक्ष दिव्‍यांशु भारद्वाज के पक्ष में फैसला सुनाते हुए उसके निर्वाचन को वैध बताया है। साथ ही पीजी कोर्स में नामांकन को भी वैध बता
PU छात्रसंघ चुनाव: अध्‍यक्ष और उपाध्‍यक्ष का निर्वाचन रद
पटना । हाईकोर्ट ने पटना विश्‍वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव मामले में बड़ा फैसला सुनाते हुए नवनिर्वाचित अध्‍यक्ष दिव्‍यांशु भारद्वाज के निर्वाचन को वैध ठहराया है। साथ ही उसके स्‍नातकोत्‍तर में नामांकन को भी वैध ठहराया है। जस्टिस चक्रधारी शरण ने दिव्‍यांशु की याचिका पर सुनावाई करते हुए यह फैसला सुनाया।दरअसल, पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव संपन्‍न होने के बाद कुछ छात्रों व छात्र संगठनों ने यह मामला उठाया था कि दिव्‍यांशु ने फर्जी तरीके से स्‍नातकोत्‍तर में नामांकन करवाया है। छात्र संगठनों के हंगामे के बाद विश्‍वविद्यालय की ओर से एक जांच टीम गठित की गई। जांच टीम ने दिव्‍यांशु की नामांकन को अवैध बताते हुए उसका निर्वाचन रद कर दिया था।निर्वाचन रद होने के बाद नवनिर्वाचित अध्यक्ष दिव्यांशु भारद्वाज ने विश्‍वविद्यालय पर लिंग्दोह कमेटी की सिफारिश और पुसु चुनाव की नियमावली की व्याख्या अपने अनुसार करने की शिकायत कोर्ट से की। इसमें कुलपति, प्रतिकुलपति तथा इलेक्शन इंचार्ज को पार्टी बनाया है।दिव्यांशु ने कहा कि जांच कमेटी ने बगैर उसका पक्ष सुने उसके निर्वाचन को रद कर दिया था। 23 फरवरी को रात साढ़े आठ बजे उसे विश्वविद्यालय से एक पत्र मिला और बिना विषय बताए अगले दिन 10 बजे उपस्थित होने को कहा गया। जिस पत्र के आधार पर पीजी में नामांकन रद किया गया है। वह 2016 में यूजीसी ने जारी किया है। जबकि बीएन कॉलेज और हिमालयन यूनिवर्सिटी में नामांकन 2014 में लिया था। इसी मामले में सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने दिव्‍यांशु के निर्वाचन को वैध करार दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here