बुलेटप्रूफ जैकेट से लैस होगी भारतीय सेना, रक्षा मंत्रालय ने किया 639 करोड़ रूपये का करार

0
332

रक्षा मंत्रालय ने 639 करोड़ रूपये की लागत से 1.86 लाख बुलेटप्रूफ जैकेटों की खरीद के लिए आज एक रक्षा कंपनी के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किया। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि अनुबंध को सफल फील्ड परीक्षणों के बाद अंतिम रूप दिया गया। अनुबंध स्वदेशी रक्षा उत्पादक एसएमपीपी प्राइवेट लिमिटेड ने हासिल किया है।मंत्रालय ने बयान में कहा कि 1,86,138 बुलेटप्रूफ जैकेटों की खरीद के लिए पूंजी खरीद के जरिये एक बड़े अनुबंध पर हस्ताक्षर किया गया है। इसमें कहा गया है कि नयी बुलेटप्रूफ जैकेट लड़ाई में सैनिक को 360 डिग्री संरक्षण मुहैया कराएगी जिसमें हार्ड स्टील कोर बुलेट से संरक्षण भी शामिल है।इससे पहले भारत 110 लड़ाकू विमानों के बेड़े की खरीद की प्रक्रिया शुरू कर चुका है। हालिया वर्षों में यह दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य खरीदारी में एक हो सकती है। वायु सेना ने अरबों डॉलर के खरीद सौदे के लिए आरएफआई (सूचना के लिए अनुरोध) या शुरूआती निविदा जारी की है। यह सौदा सरकार के मेक इन इंडिया पहल के साथ होगा।सौदे की स्पर्धा में लॉकहीड मार्टिन, बोइंग, साब और द सॉल्ट समेत अन्य सैन्य विमान निर्माता कंपनियों के शामिल होने की उम्मीद है। वायु सेना पुराने हो चुके कुछ विमानों को बाहर करने के लिए अपने लड़ाकू विमान बेड़े की गिरती क्षमता का हवाला देते हुए विमानों की खरीद प्रक्रिया में तेजी लाने पर जोर दे रही है।सरकार द्वारा पांच साल पहले वायु सेना के लिए 126 मध्यम बहु भूमिका लड़ाकू विमान (एमएमआरसीए) की खरीद प्रक्रिया को रद्द करने के बाद लड़ाकू विमानों के लिए यह पहला बड़ा सौदा होगा।इसकी जगह, राजग सरकार ने सितंबर 2016 में 36 राफेल दोहरे इंजन वाले लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए फ्रांस सरकार के साथ 7.87 अरब यूरो (करीब 59000 करोड़ रूपये) के सौदे पर दस्तखत किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.