बिहार की श्रेयसी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में जीता गोल्ड, अपनी मां को दिया सफलता का श्रेय

0
426

पटना.ऑस्ट्रेलिया में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में बिहार की शूटर श्रेयसी सिंह ने गोल्ड मेडल जीता है। श्रेयसी ने महिलाओं की डबल ट्रैप कॉम्पटीशन में गोल्ड मेडल जीता है। उन्होंने 96+2 का स्कोर करते हुए भारत को गोल्ड दिलाया। एक टीवी चैनल से बात करते हुए श्रेयसी ने सफलता का श्रेय कोच, मां और बहन को दिया है। उन्होंने कहा कि मेरी मां ने तमाम परेशानियों के बाद भी पूरे जीवन मुझे सपोर्ट किया, जिसके चलते मैं आज कामयाब हो पाई हूं।
पहले हो गई थी नर्वस
श्रेयसी ने कहा कि कोच ने मुझे कड़ी ट्रेनिंग दी थी, जिसके चलते मैं कॉमनवेल्थ में अच्छा परफॉर्म कर पाई। मैं पहले सिल्वर जीत चुकी थी। इस बार अधिक मेहनत किया था। कॉम्पटीशन काफी था। ऑस्ट्रेलिया की शूटर एम्मा काक्स को होम ग्राउंड होने के चलते फेवर था। पहले मैं नर्वस थी, लेकिन मेरी ट्रेनिंग काम आई।
बिहार में इंफ्रास्ट्रक्चर पर देना होगा ध्यान
श्रेयसी ने कहा कि मैंने दिल्ली में नेशनल लेवल के कोच से ट्रेनिंग ली है। दिल्ली में शूटिंग के लिए अच्छा इन्फ्रास्ट्रक्चर है, लेकिन बिहार में ऐसा नहीं है। शूटिंग या किसी और खेल को आगे बढ़ाने के लिए अच्छे इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत होती है। बिहार में भी खेल को आगे बढ़ाने के लिए इसपर ध्यान देने की जरूरत है।
राइफल संघ के अध्यक्ष थे श्रेयसी के पिता
श्रेयसी दिवंगत पूर्व केंद्रीय मंत्री दिग्विजय सिंह की बेटी हैं। वह मूल रूप से बिहार के जमुई जिले की रहने वाली हैं। उनकी मां का नाम पुतुल कुमारी है। पुतुल बांका की पूर्व सांसद रह चुकी हैं। श्रेयसी के पिता भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ के अध्यक्ष थे।
2014 में जीता था कांस्य
श्रेयसी 2014 के इंचियोन एशियन गेम्स में कांस्य पदक जीत चुकी हैं। उन्होंने 2010 में कॉमनवेल्थ शूटिंग चैम्पियनशिप में सिल्वर और 2017 में ब्रिसबेन में इसी चैंपियनशिप में सिल्वर पदक जीता था। श्रेयसी ने 2017 में एशियाई शॉटगन चैम्पियनशिप में कीनन चेनाई के साथ मिलकर कांस्य पदक जीता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.