बीजेपी प्रवक्ता ने किया ट्वीट- अमित शाह जी यूपी बचा लीजिए, सरकार के निर्णय शर्मसार कर रहे हैं

0
110

उन्नाव कांड को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार चौतरफा घिरती नजर आ रही है. मामले में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर रेप और हत्या के गंभीर आरोप लगे हैं. एक तरफ सरकार एसआईटी गठित कर निष्पक्ष जांच की बात कर रही है. वहीं दूसरी तरफ रेप पीड़िता के पिता की पुलिस कस्टडी में मौत को लेकर हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान ले लिया है. विपक्ष लगातार योगी सरकार पर हमलावर है. इस बीच बीजेपी की प्रवक्ता ने ही योगी सरकार की कार्रवाई पर सवाल उठा दिए हैं. बीजेपी की मीडिया पैनलिस्ट दीप्ति भारद्वाज ने उन्नाव मामले में कई ट्वीट किए हैं और सरकार पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मामले में पार्टी और सरकार की छवि को बचाने की अपील की है.दीप्ति भारद्वाज ने कहा कि ये महिलाओं के सम्मान की बात थी. पिछले दो ​तीन दिनों में जो घटनाक्रम सामने आया, उस पर ट्वीट में मेरा रिएक्शन था. सरकार की कार्रवाई के कारण पार्टी बैकफुट पर आ गई है. हम कार्यकर्ता हैं, हमें रोज जनता को फेस करना होता है. ऐसे मुद्दों पर हमारे लिए फेस सेविंग कर पाना मुश्किल होता है.उन्होंने कहा कि मेरे हिसाब से सरकार को तुरंत विधायक के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए था. समाज में अगर हम महिला सम्मान की बात करते हैं. तीन तलाक के मुद्दे पर हम महिलाओं की लड़ाई लड़ रहे हैं. बार-बार कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं. इस दिशा में मोदीजी का एक प्लान ऑफ एक्शन है. अमित शाह जी स्वयं पार्टी को इस दिशा की ओर ले जा रहे हैं. उस बीच इस तरह की खबरें हमें बैकफुट पर लाती हैं. हमारी कथनी और करनी में अंतर दिखना शुरू हो जाता है कि हम कहते कुछ हैं और करते कुछ और हैं. ये जो अवरोध पैदा करने वाली स्थिति है, इस पर मेरा रिएक्शन था.अपनी बात पार्टी फोरम पर उठानी चाहिए के सवाल पर दीप्ति भारद्वाज ने कहा​ कि ट्विटर आदि जगहें हैं, जहां हम अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष जी से संवाद कायम कर सकते हैं. मैं तो बहुत छोटी सी कार्यकर्ता हूं. हो सकता है कि मुझे उनसे मिलने का अवसर भी न मिले. तो जो उपलब्ध संसाधन हैं, मैं उनके माध्यम से अपनी बात पहुंचाउंगी.दीप्ति कहती हैं कि वह पार्टी का अहित नहीं सोच रही हैं. मैं पार्टी के खिलाफ नहीं हूं. पार्टी के हित की बात कर रही हूं. 2019 में हम चाहते हैं कि मोदी जी दोबारा आएं, उस अभियान में कभी कभार इस तरह की खबरों से लगा कलंक धोया नहीं जा पाता. ये डैमेज है, जो पूरी सोसाइटी को खराब कर देता है. पूरी पार्टी को बैकफुट पर ले आता है.उन्होंने कहा कि योगी जी अपना काम कर रहे हैं. लगातार अपराध का ग्राफ कम हो रहा है, महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भी काम हो रहा है. लेकिन इस मुद्दे पर रेप पीड़िता ने जिस तरह का बयान दिया है या कल स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ लगे रेप के मामले वापस लेने की बात है. इस तरह की त्वरित कार्रवाईयां, जिसमें आरोपी को बचाना दिखे. हमें समाज में कमजोर मानी जाने वाली महिला के साथ खड़ा होना चाहिए. एक रसूखदार व्यक्ति को बचाने के लिए हम रेप पीड़िता की सुनवाई भी न करें तो यह ठीक नहीं है. ये समाज में विकृति पैदा करता है. उन्होंने कहा कि आखिर राजनीति की गिरावट कहां तक जाएगी. गिरने का भी कोई स्तर तक तय करना पड़ेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here