यूपी रेप केस: हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लिया, सुप्रीम कोर्ट भी सीबीआई जांच की याचिका पर सुनवाई को तैयार

0
133

लखनऊ. उन्नाव की युवती से रेप मामले में बुधवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लिया। मामले की 12 अप्रैल को सुनवाई होगी। कोर्ट ने मामले में एक एमिकस क्यूरी नियुक्त किया है। वहीं, सुप्रीम कोर्ट भी मामले की सीबीआई जांच और पीड़िता को मुआवजा देने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया। बता दें कि उन्नाव जिले की बांगरमऊ सीट से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर युवती ने रेप का आरोप लगाया है। स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) पीड़ता के घर पहुंचकर मामले की जांच कर रही है।
मेरे पति और युवती का नार्को टेस्ट हो: विधायक की पत्नी
– आरोपी विधायक सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर ने बुधवार को डीजीपी ओपी सिंह से मिलकर न्याय दिलाने की मांग की। उनके साथ बलरामपुर से बीजेपी विधायक शैलेष सिंह शैलू भी मौजूद थे।
– विधायक की पत्नी ने कहा, “मेरे पति निर्दोष हैं। तथ्यों को छिपाया जा रहा है। मेरे पति और अारोप लगाने वाली युवती का नार्को टेस्ट कराया जाए। मेरे पति आज तक उस युवती से मिले तक नहीं हैं।”
– “पूरा मामला राजनीति से प्रेरित है। बिना सबूताें के ही मेरे पति को रेपिस्ट की तरह दर्शाया जा रहा है। मेरी बेटियां आहत हैं। हमारा मानसिक रूप से शोषण किया जा रहा है। ”
पीड़िता का आरोप डीएम ने एक कमरे में बंद किया
– पीड़िता ने कहा, “मैं सीएम से न्याय की मांग करती हूं। मुझे डीएम ने होटल के एक कमरे में बंद कर दिया है। पानी तक नहीं दिया जा रहा। मैं अपराधी को दंड दिलाना चाहती हूं।” पीड़िता ने मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।
शाम तक एसआईटी सौंपेगी रिपोर्ट
– एडीजी राजीव कृष्णा की अगुवाई में एसआईटी बुधवार को पीड़ता के घर जांच कर रही है। एडीजी कृष्णा ने कहा, “हम यहां जांच के लिए आए हैं। शाम तक प्रारंभिक रिपोर्ट राज्य सरकार को सौप देंंगे। मामले की सभी पहलुओं से जांच की जा रही है। हम पर किसी तरह का दबाव नहीं है।”
– “परिवार को पूरी सुरक्षा मुहैया कराई गई है। इनके दिल्ली में रिश्तेदार रहते हैं। अब यह इन्हें तय करना है कि ये उन्नाव में रहेंगे या दिल्ली जाएंगे।”
विधायक ने सीएम को दी थी सफाई
– मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार शाम विधायक कुलदीप सेंगर को तलब किया था। सीएम से मुलाकात को लेकर सेंगर ने कहा था, ”मुझे बुलाया नहीं गया है, बल्कि मैं खुद उनसे मिलने आया हूं। मुझे जांच से कोई परेशानी नहीं है। जो लोग आरोप लगा रहे हैं वो निम्न स्तर के हैं और यह अपराधियों की साजिश है।”
जेल भेजा गया विधायक का भाई
– पीड़िता के पिता के साथ मारपीट के मामले में मंगलवार को विधायक के भाई अतुल सेंगर समेत 4 लोगों को लखनऊ क्राइम ब्रांच की टीम ने उन्नाव से गिरफ्तार किया। विधायक के भाई पर पीड़िता के पिता पर झूठा केस करने का भी आरोप है। पुलिस ने गिरफ्तार लोगों को उन्नाव जेल भेजा।
– बता दें कि सोमवार को जेल से हॉस्पिटल लाए गए पीड़िता के पिता की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। बाद में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था उसकी मौत बड़ी आंत फटने से हुई थी। उसकी बॉडी पर 14 जगह गंभीर चोट के निशान थे।
परिवार समेत आत्मदाह की कोशिश की थी
– पीड़ित ने रविवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री निवास के सामने परिवार समेत आत्मदाह की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया था।
– महिला ने उन्नाव में परिवार के खिलाफ कई झूठे मुकदमे दर्ज कराए जाने का भी आरोप लगाया था। मामले में माखी थाने के एसओ समेत 6 कॉन्स्टेबल को सस्पेंड किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here