उन्नाव-कठुआ गैंगरेप: राहुल गांधी ने निकाला कैंडल मार्च, सरकार पर बरसे

    0
    489

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के उन्नाव और जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुई बलात्कार की घटनाओं के विरोध में गुरुवार रात को इंडिया गेट पर कैंडल मार्च का नेतृत्व किया। इस मौके पर राहुल की बहन प्रियंका और उनके पति रॉबर्ट वड्रा भी मौजूद थे। कैंडल मार्च में राहुल गांधी ने कहा, हम चाहते हैं सरकार कार्रवाई करे। ये राजनीतिक नहीं राष्ट्रीय मामला है। देश में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार हो रहा है।
    इस दौरान राहुल गांधी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘देश में जो हालात हैं, जो महिलाओं के खिलाफ अत्याचार हो रहा है, मोदी सरकार को इसे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठा रही है। देश की महिलाएं आज घर से निकलने में भी डर रही हैं। जहां भी हम देखते हैं, कहीं न कहीं किसी बच्ची को मारा जाता है, रेप किया जाता है। हम चाहते हैं कि महिलाएं यहां शांति और सम्मान के साथ जी सकें।इसके साथ ही उन्होंने कहा, यह राष्ट्रीय मामला है, ये राजनीति का मुद्दा नहीं है। यहां सब पार्टी के लोग खड़े हैं। यहां महिलाएं खड़ी हैं। मेरा यह है कि देश में जो हालात हैं, मोदी सरकार को इसे लेकर कुछ करना चाहिए।इंडिया गेट पर इस मार्च में शामिल लोगों ने मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश एवं जम्मू-कश्मीर की सरकारों के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही उन्होंने बलात्कार के इन दोनों मामलो में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की। इस कैंडल मार्च में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता, कार्यकर्ता और छात्र शामिल हुए। अहमद पटेल , गुलाम नबी आजाद , सलमान खुर्शीद , अशोक गहलोत, अजय माकन, रणदीप सुरजेवाला, अंबिका सोनी और हारून यूसुफ सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता इस मार्च में शामिल हुए। मार्च में शामिल हुए राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, सरकार सो रही है इसलिए कांग्रेस उसे जगाने का काम रह रही है। पीएम ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा दिया है और उनके शासन में हमारे बेटियों से रेप हो रहा है। वह रेप के आरोपियों को बचाने वाले मंत्रियों पर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं।इस मार्च का आह्वान राहुल गांधी ने ट्विटर के जरिए किया था। उन्‍होंने लिखा, ”लाखों भारतीयों की तरह आज मेरा दिल भी दुखी है। भारत में महिलाओं के साथ ऐसा व्‍यवहार जारी नहीं रह सकता। इस हिंसा के खिलाफ और न्‍याय की मांग के लिए आज रात मेरे साथ इंडिया गेट पर एक शांतिपूर्ण कैंडल लाइट मार्च का हिस्‍सा बनिए।” इससे पहले राहुल ने कठुआ गैंगरेप को मानवता के खिलाफ अपराध करार देते हुए कहा कि इसके दोषियों को सजा मिलनी ही चाहिए। गांधी ने इस जघन्य हत्याकांड पर ट्वीट किया, ‘कठुआ में इस बच्ची के साथ जो कुछ भी हुआ वह मानवता के विरूद्ध अपराध है। इसमें सजा अवश्य होनी चाहिए।’कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘एक बेगुनाह बच्ची के साथ इस तरह की कू्रता की जाती है जो कल्पना से भी परे है। यदि हम इसतरह के मामले में भी राजनीति को हस्तक्षेप करने की इजाजत देते हैं तो यह सवाल उठता है कि आखिर हमें हो क्या गया है’। गांधी ने सवाल किया कि इसतरह का कुकृत्य करने वाले अपराधियों को बचाने की बात कोई कैसे कर सकता है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.