सीबीएसई पेपर लीक: ऊना से ही लीक हुआ था दसवीं गणित का पेपर

0
123

सीबीएसई के कई दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया गया। तीनों के खिलाफ आपराधिक लापरवाही सामने आने पर गिरफ्तार किया गया।
ऊना, । केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के दसवीं के गणित का पेपर भी हिमाचल प्रदेश के ऊना से लीक हुआ था। मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने मुख्य आरोपित राकेश कुमार के रिश्ते की भाभी अंजू बाला समेत यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की ऊना शाखा के मैनेजर शेरू राम और हेड कैशियर ओम प्रकाश को गिरफ्तार किया है। राकेश कुमार डीएवी सेंटेनरी पब्लिक स्कूल ऊना में कॉमर्स एवं अर्थशास्त्र विषय का शिक्षक था। उसे 12वीं अर्थशास्त्र का पेपर लीक करने के मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है। इन्हें रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। सीबीएसई के कई दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया गया। तीनों के खिलाफ आपराधिक लापरवाही सामने आने पर गिरफ्तार किया गया।अब तक की जांच में सीबीएसई के किसी अधिकारी व कर्मचारी की भूमिका सामने नहीं आई है और न ही पैसों के लिए प्रश्नपत्र लीक किए जाने की बात सामने आई है। बता दें कि पेपर लीक की एफआइआर कराने के बाद सीबीएसई ने अर्थशास्त्र व गणित विषय का पेपर दोबारा से कराने की घोषणा की थी, लेकिन बाद में सीबीएसई ने स्पष्ट कर दिया कि गणित विषय की परीक्षा दोबारा नहीं होगी।
हिमाचल से जुड़े सीबीएसई पेपर लीक मामले के तार
स्ट्रांग रूम से प्रश्नपत्र की चोरी की थी
23 मार्च को दसवीं के कंप्यूटर साइंस की परीक्षा वाले दिन राकेश जब यूनियन बैंक से प्रश्नपत्र लाने गया था तभी उसने स्ट्रांग रूम से 12वीं के अर्थशास्त्र विषय व दसवीं के गणित विषय का एक-एक प्रश्नपत्र चोरी कर लिया था। अर्थशास्त्र की परीक्षा 26 मार्च को होनी थी और गणित की 28 को। राकेश ने 23 मार्च की शाम ही दोनों विषयों के प्रश्नपत्र को वाट्सएप के जरिये लीक कर दिया था। संयुक्त आयुक्त (क्राइम ब्रांच) आलोक कुमार के मुताबिक सात अप्रैल को क्राइम ब्रांच ने राकेश समेत डीएवी सेंटेनरी पब्लिक स्कूल के क्लर्क अमित शर्मा व चपरासी अशोक को गिरफ्तार कर अर्थशास्त्र विषय का प्रश्नपत्र लीक होने की गुत्थी सुलझाई थी। उस केस में राकेश को मुख्य आरोपित बनाया है। इस केस में भी उसकी दोबारा गिरफ्तारी की गई है। अंजू बाला फिरोजपुर (पंजाब) की रहने वाली है। वैसे मूलरूप से वह उत्तराखंड की है। 35 वर्षीय शेरू राम व 58 वर्षीय ओम प्रकाश दोनों कांगड़ा जिले के रहने वाले हैं।
ऐसे हाथोंहाथ पहुंचा प्रश्नपत्र
हिमाचल के ऊना से लीक हुआ था सीबीएसई का पेपर, तीन कर्मचारी गिरफ्तार
23 मार्च को कंप्यूटर साइंस परीक्षा वाले दिन राकेश जब यूनियन बैंक में प्रश्नपत्र लाने गया था, तभी स्ट्रांगरूम से उसने 12वीं के अर्थशास्त्र व दसवीं के गणित विषय का एक-एक प्रश्नपत्र चोरी कर लिया था। अर्थशास्त्र का पेपर तो राकेश ने उसके साथ आए स्कूल के क्लर्क अमित शर्मा व चपरासी अशोक के जरिये स्कूल भिजवा दिया, लेकिन गणित का प्रश्नपत्र उसने अपनी कार में रख लिया था। शाम को राकेश ने अपने कोचिंग सेंटर में पढऩे वाले दसवीं कक्षा के छात्र को घर बुलाकर उसे कोरे कागज पर प्रश्न लिखवा दिया और अपने मोबाइल से हस्त लिखित प्रश्नपत्र की तस्वीर अंजू बाला को वाट्सएप पर भेज दी। अंजू फिरोजपुर में एक इंस्टीट्यूट की लाइब्रेरी में काम करती है। उसने अपने बेटे के मोबाइल से प्रश्नपत्र पंचकूला में रहने वाली बहन को भेज दिया। उक्त महिला ने दिल्ली के रोहिणी में रहने वाली रिश्तेदार पूजा को भेज दिया। पूजा ने प्रश्नपत्र पश्चिम विहार में रहने वाली नीतू को भेज दिया। इस तरह परीक्षा वाले दिन तक सैकड़ों परीक्षार्थियों व अभिभावकों के पास प्रश्नपत्र पहुंच गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here