इशरत जहां प्रकरण : सीबीआई के समय मांगने पर सुनवाई स्थगित

0
75

अहमदाबाद की एक विशेष सीबीआई अदालत ने कथित इशरत जहां फर्जी मुठभेड़ कांड में सुनवाई शुक्रवार को स्थगित कर दी। जांच एजेंसी ने गुजरात के पूर्व पुलिस अधिकारियों एन के अमीन और डीजी वंजारा की आरोपमुक्त करने की अर्जियों पर जवाब देने के लिए समय मांगा।केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने जवाब देने के लिए अदालत से वक्त मांगा तथा विशेष सीबीआई न्यायाधीश जेके पांड्या ने उसे दो सप्ताह का वक्त दिया तथा तब तक के लिए सुनवाई स्थगित कर दी। अमीन और वंजारा ने आरोप मुक्त करने की मांग करते हुए पिछले हफ्ते अदालत में अर्जियां लगाईं थीं। अमीन उन सात पुलिस अधिकारियों में एक हैं जिन्हें सीबीआई ने इस मामले में अपने पहले आरोपपत्र में नामजद किया था। हाल ही में विशेष अदालत ने उनमें से पूर्व प्रभारी पुलिस महानिदेशक पीपी पांडे को आरोपमुक्त कर दिया था।अमीन ने कई आधार पर अर्जी लगाई थी और दावा किया था कि इस मामले में कुछ आरोपियों को गवाह बनाने में सीबीआई ने कानून की प्रक्रिया का पालन नहीं किया। आरोपपत्र गढ़ा गया था और उसके ज्यादातर तथ्यों में छेड़छाड़ की गई थी।वंजारा ने अपनी अर्जी में दावा किया था कि इस मामले में जो साक्ष्य हैं वह कुछ नहीं बल्कि झूठी कहानी है। मुंबई के समीप मुम्ब्रा की रहने वाली 19 साल की इशरत, उसके दोस्त जावेद शेख ऊर्फ प्रणेश, अमजद अली राणा और जीशान जौहर को जून, 2004 में शहर के बाहरी इलाके में अहमदाबाद पुलिस ने एक कथित फर्जी मुठभेड़ में मार गिराया था। तब पुलिस ने दावा किया था कि वे लश्कर-ए-तैयबा से संबद्ध आतंकवादी थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here