देश में नकदी संकट पर बोले राहुल गांधी, पीएम मोदी ने बैंकिंग सिस्टम तबाह किया, हमारे पैसे नीरव को दिए

0
253

नई दिल्ली
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के कई राज्यों में चल रहे नकदी संकट को लेकर पीएम मोदी पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने कहा है कि पीएम मोदी ने देश के बैंकिंग सिस्टम को तबाह करके रख दिया। राहुल ने कहा है कि पीएम ने हमारे पॉकिट से 500, 1000 रुपये के नोट निकाल, नीरव मोदी के पॉकेट में डाल दिए। राहुल ने बैंकिंग घोटाले के अलावा राफेल मामले को भी लेकर केंद्र पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने कहा कि इन दोनों मामलों पर उन्हें संसद में 15 मिनट बोलने का मौका दिया जाए, पीएम मोदी सदन में खड़े भी नहीं हो पाएंगे।आपको बता दें कि यूपी, बिहार, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना समेत कई राज्यों में कैश करंसी की किल्लत देखने को मिल रही है। एटीएम खाली या बंद पड़े हैं और लोगों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में वित्त मंत्री अरुण जेटली का बयान भी सामने आ गया है। जेटली ने कहा है कि देश में जरूरत से ज्यादा नोट सर्कुलेशन में हैं लेकिन कुछ इलाकों में नोटों की मांग अप्रत्याशित रूप से बढ़ गई है। अब कांग्रेस अध्यक्ष ने इसी मुद्दे को लेकर केंद्र पर निशाना साधा है।ATM से कहां गया कैश, वित्त मंत्री जेटली ने ट्वीट कर बताया रायबरेली-अमेठी के दौरे पर यूपी आए राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने बैंकिंग सिस्टम को तबाह कर दिया है। उन्होंने पीएनबी स्कैम के संदर्भ में नीरव मोदी का जिक्र करते हुए कहा कि ‘नीरव मोदी 30000 करोड़ रुपये लेकर भाग गए लेकिन पीएम ने एक शब्द भी नहीं कहा। हमें लाइनों में खड़ा रहने के लिए मजबूर किया। हमारे जेब से 500, 1000 रुपये के नोट छीनकर नीरव मोदी के पॉकेट में डाल दिए।’राहुल ने इसी क्रम में राफेल सौदों में हुई कथित अनियमितता का आरोप एक बार फिर लगाया। राहुल ने कहा कि अगर उन्हें इन मुद्दों पर 15 मिनट बोलने दिया जाए तो पीएम मोदी सदन में खड़े नहीं हो पाएंगे। आपको बता दें कि केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रसाद शुक्ल ने कहा है कि कुछ राज्यों में नोटों की पैदा हुई किल्लत तीन दिनों में खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन राज्यों में कैस की किल्लत है, वहां दूसरे राज्यों के मुकाबले कम नोट पहुंचे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.