Akshay Tritiya 2018: अक्षय तृतीया पर दुर्लभ संयोग, दान, पूजन और खरीदारी का ये है शुभ मुहूर्त

0
49

अक्षय तृतीया 2018 विशेष संयोग लेकर आया है। ऐसा माना जा रहा है कि 11 साल बाद अक्षय तृतीया पर 24 घंटे का सर्वार्थ सिद्धि योग बना है जिसे खरीदारी सहित दूसरे शुभ कार्यों के लिए भी उत्तम माना जा रहा है। यह एक अच्छा संयोग हैं कि इस दिन रवि योग और आयुष्मान योग भी निर्मित हो रहा है जो इस दिन शुरू किए गए कार्य की सफलता की संभावना को बढ़ा रहे हैं।
अक्षय तृतीया का शुभ सयम
इस साल अक्षय तृतीया पर शनि की चाल बदलना भी एक विशेष घटना है जिसका प्रभाव सभी राशियों पर अगले 6 महीने तक देखने को मिलेगा। पंचांग की गणना के अनुसार वैशाख शुक्ल तृतीया तिथि का आरंभ 18 अप्रैल को सुबह 4 बजकर 47 मिनट से हो रहा है यानी इस समय से अक्षय तृतीया लग जाएगी और अगले दिन सुबह 3 बजकर 3 मिनट तक रहेगी। इतने लंबे समय तक अक्षय तृतीया तिथि का रहना बहुत ही शुभ माना जा रहा है।
अक्षय तृतीया खरीदारी का महत्व
लंबे समय तक अक्षय तृतीया का होने का मतलब है कि लोगों को दान-पुण्य, धार्मिक कार्यों सहित नया काम शुरू करने और खरीदारी करने के लिए अधिक समय मिलेगा। आप दिन भर में जब चाहें दान-पुण्य और खरीदारी कर सकते हैं। इस पर शुभ संयोग यह भी है कि अक्षय तृतीया पर दो स्थायी लग्न सिंह और वृश्चिक मिल रहे हैं जो आपकी खरीदारी और पुण्य को स्थायी बनाने वाले हैं।
आप घर, वाहन, सोना, जमीन खरीद सकते हैं। अक्षय तृतीया को अबूझ मुहूर्त में विवाह के लिए फेरे लेने के लिए शुभ मुहूर्त रात 2 बजे से 4 बजे तक रहेगा।
अक्षय तृतीया पूजन
भविष्य पुराण के अनुसार अक्षय तृतीया के दिन चंदन मिश्रित जल से भगवान विष्णु की पूजा की जानी चाहिए। इस दिन मोदक का दान करने से ब्रह्मा सहित सभी देवता प्रसन्न होते हैं। अक्षय तृतीया के दिन पूजा स्थान पर चंदन और रोली लगाकर घट की पूजा करें। पूजा के बाद इसका दान कर देना चाहिए इससे अनंतगुणा फल की प्राप्ति होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here