सिख जत्‍थे के संग गई महिला के पाक में निकाह पर बढ़ा विवाद, ISI के हत्थे चढ़ने की आशंका

0
213

सिख जत्‍थे के साथ पाकिस्‍तान गई पंजाब की महिला के पाकिस्‍तान में धर्म बदलकर निकाह करने के मामले में विवाद बढ़ गया है। परिवार ने आशंका जताई है कि वह आइएसअाइ के हत्‍थे चढ़ गई है।
सिख जत्‍थे के साथ पाकिस्‍तान गई होशियारपुर की महिला के पाकिस्‍तान में धर्म बदलकर मुस्लिम युवक से निकाह करने के मामले में विवाद बढ़ गया है। किरणबाला नामक इस महिला के परिवार ने उसके पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी आइएसअाइ के हत्‍थे चढ़ने और उसके कब्‍जे में होने का शक जताया है। महिला के ससुर तरसेम सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पंजाब के मुख्‍यमंत्री से गुहार की है कि किरणबाला को वापस लाया जाए। भारत में अपने तीन बच्‍चों को छोड़कर महिला के इस तरह पाकिस्‍तान में शादी रचाने से उसका परिवार सदमे में है।
तीन बच्‍चों को छोड़ पाकिस्‍तान में शादी रचाने से महिला का परिवार सदमे में
बता दें कि किरणबाला वैशाखी के अवसर पर सिख जत्थे के साथ पाकिस्तान स्थित सिख धार्मिक स्‍थलों की तीर्थयात्रा पर गई थी और वहां अचानक 16 अप्रैल को जत्‍थे से गायब हाे गई। जांच में पता चला कि उसने धम्र बदलकर इस्‍लाम कुबूल कर लिया है और लाहौर के एक युवक से निकाह कर ली है। किरण बाला के ससुर तरसेम सिंह ने उसके आइएसआइ के चंगुल में फंसने की आशंका जताई है। तरसेम इस घटना से स्तब्ध हैं। उन्हें यकीन ही नहीं हो रहा कि किरण बाला (31) ने अपने तीन बच्चों को छोड़कर पाकिस्तान में जाकर निकाह कर लिया है।ससुर ने प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री और मुख्‍यमंत्री से किरण बाला को वापस लाने की लगाई गुहार गांव गढ़शंकर निवासी गुरुद्वारे में हेड ग्रंथी तरसेम के अनुसार, कुछ दिनों से किरण फेसबुक और वाट्सएप पर बिजी रहती थी। पूछने पर कहती थी की कि अपने रिश्तेदारों से बात कर रही है। अब लगता है कि वह पाकिस्तानी से बात करती थी। उन्हें क्या मालूम था कि उसकी बहू साजिश रच रही है। उन्होंने कहा कि उनके बेटे नरिंदर सिंह की 2013 में मौत हो गई थी। बहू ने भी धोखा दे दिया। अब बेटे के तीन बच्चों की जिम्मेदारी उन पर आ गई है।पूरे मामले पर अपनी बात रखते किरण बाला के ससुर तरसेम सिंह।तरसेम ने बताया कि नरिंदर दिल्ली में काम करता था। 2005 में वहीं उसने किरण बाला से प्रेम विवाह कर लिया था। उन्होंने कभी सोचा न था कि गुरुधामों के दर्शनों के लिए पाकिस्तान गई उनकी बहू ऐसा करेगी और अपने बच्चों को भी ठुकरा देगी। उसने पाकिस्‍तान से फोन करके निकाह की जानकारी दी तो लगा कि वह मजाक कर रही है।के दौरान श्री गुरु ननकाना साहिब पाकिस्तान जाने वाले जत्थे के साथ अपने पासपोर्ट को शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के जरिये पकिस्तान का वीजा लगवाने को भेजा था। उन्होंने किरण को एसजीपीसी के पास ननकाना साहिब जाने के लिए छोड़ा था। जब उन्हें पता चला कि पाकिस्‍तान जाकर किरण ने धर्म परिवर्तन कर अपना नाम आमना बीबी रख लिया और मुस्लिम से निकाह कर लिया तो उनके पैरों तले जमीन ही खिसक गई।तरसेम का कहना है कि उन्होंने खुद किरण को एसजीपीसी के उच्चधिकारियों के हवाले किया था। इसके बाद की जिम्मेदारी एसजीपीसी की थी लेकिन उसकी ओर से उन्हें कोई जानकारी नहीं दी गई। तरसेम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से गुहार लगाई है कि उनकी बहू को भारत लाया जाए।
वीजा बढ़ाने की किरण ने लगाई अर्जी
जानकारी के मुताबिक, किरण ने अपना नाम आमना बीबी रखने के बाद इस्लामाबाद स्थित पाकिस्तानी विदेश विभाग में वीजा बढ़ाने के लिए अर्जी दायर की है। उसने दलील दी है कि उसने अपनी सहमति से 16 अप्रैल को एक मस्जिद में इस्लाम धर्म कबूल करने के बाद मोहम्मद आजम के साथ निकाह कर लिया है। उसने कहा है कि वह भारत नहीं जाना चाहती है और उसका वीजा 21 अप्रैल को खत्म हो रहा है। वह अपने शौहर के साथ पाक में रहना चाहती है, इसलिए तीन माह का वीजा और दिया जाए।
मामला जानकारी में नहीं : डीएसपी
डीएसपी राज कुमार ने कहा कि उनकी जानकारी में यह मामला नहीं था। अब वह जांच करवाएंगे। एसजीपीसी सदस्य डॉ. जंग बहादुर सिंह राय, बीबी रणजीत कौर व सुरिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने किरण बाला नाम की किसी महिला की सिफारिश नहीं की थी।
पाकिस्तान से मेरी लाश ही भारत जाएगी उधर विवाद बढ़ने पर किरण बाला उर्फ आमना बीबी ने कहा है कि अब पाकिस्तान से उसकी लाश ही भारत जाएगी। उसे वीरवार को लाहौर की जामा मस्जिद के मौलवी ने निकाह का सर्टिफिकेट जारी कर दिया। उसने कहा कि वह पति मोहम्मद आजम और ससुराल के लोगों के साथ खुश है। उसने अपनी सुरक्षा को लेकर लाहौर हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है और सिख जत्थे के पास जमा अपना पासपोर्ट मांगा है। कोर्ट ने उसे पाकिस्‍तान में रहने की मंजूरी दे दी है। उसने कहा है कि भारत में उसकी जान को खतरा है। पाकिस्तान में उस पर निकाह के लिए कोई दबाव नहीं बनाया गया है। भारत में वह परिवार के साथ बहुत दुखी थी।
यह है मामला
किरण बाला ने 12 अप्रैल को सिख धार्मिक जत्‍थे के साथ पाकिस्‍तान में गुरुधामों के दर्शन के लिए गई थी। 16 अप्रैल काे वह जत्‍थे से अचानक गायब हो गई। इसके बाद खुलासा हुआ कि उसने धर्म बदल कर दूसरा विवाह कर लिया है। किरणबाला ने पाकिस्‍तान के मुस्लिम नौजवान के साथ लाहौर की मस्जिद में निकाह कर लिया। उसने अपना नाम बदलकर अमीना बीबी रख लिया। वह गढ़शंकर में पहले से शादीशुदा थी और उसके तीन बच्‍चे भी हैं।
फेसबुक पर हुई थी दोस्‍ती
किरण बाला के तीन बच्चों में दो लड़के और एक लड़की है। किरण बाला के धर्म परिवर्तन के बारे में लाहौर की इस मस्जिद के मौलवी रगीब नईमी ने पुष्टि की है। किरणबाला के गढ़शंकर में धार्मिक प्रवृति वाले परिवार में शादी हुई थी। वह खुद भी धार्मिक प्रवृति की मानी जाती थी। बताया जाता है कि किरणबाला की लाहौर के मोहम्मद आज़म के साथ फेसबुक पर दोस्ती हुई। इसके बाद दोनों में चेटिंग होने लगी। सिख जत्‍थे के साथ वह 12 अप्रैल काे पाकिस्‍तान गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here