भारत-चीन संबंधः सीमा विवाद और मानसरोवर यात्रा के लिए नाथूला दर्रे को खोलने पर बनी सहमति

0
137

डोकाला विवाद और मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने पर चीनी अड़ंगे की वजह से भारत-चीन रिश्तों पर जमी बर्फ अब पिघलने लगी है। शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन से पहले मंत्री स्तर की वार्ता के लिए बीजिंग गई विदेशमंत्री सुषमा स्वराज की रविवार को अपने चीनी समकक्ष वांग यी से इतनी सकारात्मक वार्ता हुई कि इसके तुरंत बाद 27 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी की चीन दौरे की घोषणा कर दी गई।चार दिवसीय यात्रा पर बीजिंग आईं स्वराज ने रविवार को अपने चीनी समकक्ष स्टेट काउंसलर वांग यी से मुलाकात की और बहुपक्षीय मंचों पर सहयोग, आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन और अन्य वैश्विक चुनौतियों पर चर्चा की और मिलजुलकर इनसे निपटने की बात कही। बाद में संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में विदेशमंत्री ने कहा, हमारा मानना है कि हमारे बीच की साझा चीजें हमारे मतभेद पर भारी हैं। हमारे मतभेदों के परस्पर स्वीकार्य समाधान के लिए हमें एक दूसरे से मिलती जुलती चीजों पर ही आगे बढ़ना चाहिए। वांग यी ने भी इसपर सहमति जताई और पुष्टि की कि चीन इस वर्ष सतलुज और ब्रह्मपुत्र नदी से जुड़े आंकड़ों को भारत के साथ साझा करेगा।प्रेस कांफ्रेंस में चीन के स्टेट काउंसलर वांग ने घोषणा की कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग वुहान शहर में 27-28 अप्रैल को अनौपचारिक शिखर वार्ता करेंगे। इस दौरान विभिन्न द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा होगी।
इस महीने कई स्तरों पर बात
– 12 अप्रैल राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने चीन के शीर्ष राजनयिक यांग जेइची से मिले
– 22 अप्रैल को विदेशमंत्री सुषम स्वराज ने अपने चीनी समकक्ष वांग यी से मुलाकात की – 23-25 तक रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण का भी चीन दौरा प्रस्तावित कई मुद्दों पर होगी चर्चा
– 27-28 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की शीर्षस्थ स्तर पर वार्ता
यी होंगे चीन के विशेष सीमा वार्ताकार प्रतिनिधि
चीन ने अपने विदेशमंत्री वांग यी को भारत-चीन सीमा वार्ता के लिए अपना नया विशेष प्रतिनिधि नियुक्त किया है। यी की नियुक्ति की पुष्टि उस समय की गई, जब वह विदेशमंत्री सुषमा स्वराज से द्विपक्षीय वार्ता कर रहे थे। वह यांग जेइची की जगह लेंगे, जिन्हे कम्युनिष्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीआई)के पोलित ब्यूरो का सदस्य बनाया गया है।
पीएम मोदी अगले हफ्ते करेंगे बीजिंग का दौरा, जिनपिंग से होगी मुलाकात
रिश्तों के तीन आयाम
सहयोग
– सतलुज और ब्रह्मपुत्र नदी में जल से जुड़े आंकड़ों को साझा करेगा
– कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए नाथूला दर्रे को खोलने पर बनी सहमति
संघर्ष
– भारतीय सीमा पर बार-बार चीनी सेना की ओर से की जा रही घुसपैठ
– आतंकी मसूद अजहर पर रोक और एनएसजी में भारत की सदस्यता में अड़ंगा
संभावना
– जून में होने वाली फिनेंशियल एक्शन टॉस्क फोर्स (एफएटीएफ) की बैठक में पाक को निगरानी सूची में डालने के पक्ष में मतदान
– सीमा विवाद पर सर्वमान्य और समयबद्ध वार्ता पर बन सकती सहमति, भारत-चीन व्यापार असंतुलन दूर करने पर समझौता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here