MI vs SRH: हैदराबाद ने लो स्कोरिंग मैच में मुंबई को 31 रन से हराया, मुंबई की 5वीं हार

0
76

मुंबई
IPL 11 का यह सीजन अपने रोमांचक मैचों के लिए लगातार पहचान बनाता जा रहा है। हर मैच की तरह इस मैच का नतीजा भी अंतिम पलों में जाते-जाते एक बार फिर बदल गया। इस मैच में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) ने मुंबई इंडियंस (MI) को 31 रन से मात दी। इस सीजन में मुंबई की यह 6 मैचों में 5वीं हार है।हैदराबाद की टीम ने भले ही इस मैच में इस सीजन का अपना सबसे कम स्कोर खड़ा किया था, लेकिन उसके बोलर्स ने इसे भी शानदार ढंग से बचा लिया। 118 रन के स्कोर को SRH के बोलर्स और उसके फील्डर्स ने शानदार ढंग से डिफेंड किया और मुंबई इंडियंस को मात्र 87 रन पर ढेर कर दिया। इस मैच में अफगानिस्तान के युवा लेग राशिद खान को मैन ऑफ द मैच चुना गया। राशिद ने 4 ओवर में सिर्फ 11 रन देकर 2 विकेट लिए, जिसमें एक ओवर मेडन भी था।
फीकी रही मुंबई की शुरुआत
इस मैच में मुंबई के लिए टारगेट आसान दिख रहा था, लेकिन मुंबई के बल्लेबाजों पर सनराइजर्स के बोलर्स ने शुरुआत से ही नकेल कसने का प्लान बनाया, जो कामयाब रहा। पहले इविन लुइस (5) संदीप शर्मा की बॉल पर मनीष पांडे को कैच दे बैठ, तो अगली 7 गेंदों बाद इनफॉर्म बल्लेबाज ईशान किशन (0) अपना खाता भी नहीं खोल पाए थे कि उन्हें मोहम्मद नबी ने अपना शिकार बना लिया। इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा (2) शाकिब अल हसन की बॉल पर गलती कर गए और स्लिप में खड़े शिखर धवन ने उनका कैच लपकने में कोई गलती नहीं की। इस तरह मुंबई की टीम ने 21 रन जोड़ने तक अपने 3 विकेट गंवा दिए।मुंबई ने 21 रन जोड़ते-जोड़ते 3 विकेट गंवा दिए। यहां क्रुणाल पंड्या सूर्यकुमार यादव का साथ देने आए। दोनों ने पहले लड़खड़ाती हुई पारी को संभाला और फिर नजरे जमाने के बाद चौके बरसाने शुरू कर दिए। सूर्यकुमार यादव ने 8वां ओवर फेंक रहे मोहम्मद नबी की बॉल पर 2 चौके जड़े और इसके अगले ओवर में क्रुणाल पंड्या ने सिद्धार्थ कौल के ओवर में 3 चौके जड़कर मुंबई का स्कोर 9 ओवर में 50 पर पहुंचा दिया। दोनों ने मुंबई की पारी को अच्छे से संभाल लिया था, कि 12वें ओवर में राशिद खान ने क्रुणाल (24) को LBW आउट कर दिया। यहां अंपायर ने इसे आउट नहीं दिया था, लेकिन राशिद DRS की मांग की और टीवी अंपायर ने उनकी इस मांग को सही पाया।क्रुणाल आउट हुए, तो मुंबई के अनुभवी खिलाड़ी कायरन पोलार्ड (9) मैदान पर पहुंच गए। पोलार्ड ने दबाव मिटाने के लिए जल्दी ही एक छक्का भी जड़ दिया, लेकिन चालाक लेग स्पिनर राशिद खान ने जल्दी ही उन्हें स्लिप पर खड़े शिखर धवन के हाथों कैच आउट कराकर उनकी पारी का यहीं अंत कर दिया। यह मुंबई 5वां झटका था, जो उसे 73 के कुल स्कोर पर लगा।
दुनिया के महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर आज अपना 45वां जन्मदिन मना रहे हैं। भले ही सचिन ने करीब 5 साल पहले क्रिकेट को अलविदा कह दिया हो, लेकिन उनके फैन्स को आज भी लगता है कि यह कल ही कि तो बात है।
मास्टर ब्लास्टर के बर्थडे पर उनके साथ खेले दिग्गज क्रिकेटर्स ने कुछ इस अंदाज में दी है बधाई….तेंडुलकर के साथ वनडे क्रिकेट में पारी की शुरुआत करने वाले विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग ने लिखा, ‘उस व्यक्ति को जन्मदिन की बहुत सारी बधाइयां जो भारत में समय को रोक देता था। क्रिकेट के बल्ले को इतना बड़ा हथियार बनाने के लिए धन्यवाद, जिसे बाद में मेरे जैसे कई लोग भी इस्तेमाल कर सके।’
टेस्ट क्रिकेट में सचिन के साथ कई ऐतिहासिक मौकों पर बड़ी-बड़ी साझेदारियां निभाने वाले कलाइयों के जादूगर VVS लक्ष्मण ने लिखा, ‘जन्मदिन की शुभकामनाएं सचिन। आप हमेशा एक प्रेरणा बने रहेंगे। यह देखना अद्भुत है कि आप संन्यास लेने के बाद भी समाज के लिए योगदान दे रहे हैं। मैं आपकी सफलता की कामना करता हूं।’
टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली ने सचिन को बधाई देते हुए लिखा, ‘सचिन पाजी आपको जन्मदिन की बधाइयां। सच्चे मास्टर ब्लास्टर आप ही हैं और हमेश आप ही रहेंगे।’सालों तक सचिन तेंडुलकर के साथ क्रिकेट खेले युवराज सिंह ने अपने ही अंदाज में उन्हें बधाई देते हुए लिखा, ‘ यह केक खाने का टाइम है। आपको जन्मदिन की ढेर सारी बधाइयां और बहुत सारा प्यार। हमेशा आपको शुभकामनाएं दूंगा।’टर्बनेटर नाम से मशहूर ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने उन्हें हिंदुस्तान की शान, गुलिस्तान और शतकों का महारती बताया है।इस लेफ्टहैंडर बल्लेबाज ने मास्टर ब्लास्टर को बधाई देते हुए लिखा, ‘जिस व्यक्ति ने अरबों भारतीयों के एकजुट किया, वह जब भी बल्लेबाजी करने उतरता उनके चेहरे पर मुस्कान आ जाती। एक सपना जो सच में बदला।
सचिन एक भावना है … सचिन असाधारण है।’
मोहम्मद कैफ ने इस मौके पर 2003 वर्ल्ड कप के यादगार लम्हें को याद करते हुए मास्टर ब्लास्टर को बधाई पोस्ट की है।कैफ ने लिखा, सेंचुरियन 2003 मेरे जीवन के यादगार पलों में से एक है, सिर्फ इसलिए नहीं कि हमने उस दिन पाकिस्तान को हराया था, बल्कि मैंने सिर्फ 22 गज के अंतर से सचिन का फोकस, इंटेनसिटी और जीनियस पन देखा था। क्या उम्दा इंसान हैं। आपकी चमक के पार कोई कोई नहीं जा सकता।’
बासिल थंपी को मिली बड़ी सफलता
इस मैच में बासिल थंपी को भुवनेश्वर कुमार की जगह मौका मिला था, लेकिन केन विलियमसन ने उन्हें 14 ओवर्स तक बॉल नहीं सौंपी। सनराइजर्स के बाकी बोलर्स लो स्कोरिंग मैच में उम्दा परफॉर्म जो कर रहे थे। इस बीच थंपी के हाथ में 15 ओवर आया और उन्होंने इस ओवर में सिर्फ 2 रन देकर बड़ी मछली अपने जाल में फंसा ली। मुंबई के लिए एक छोर पर शुरुआत से ही सूर्यकुमार यादव (34) खडे़ थे। इससे हैदराबाद की चिंताए बढ़ रही थीं। थंपी ने सूर्यकुमार को शॉर्ट बॉल के जाल में फंसाकर राशिद खान के हाथों आउट कराकर अपनी टीम को बड़ी सफलता दिला दी।सिद्धार्थ कौल ने एक ही ओवर में किए दो शिकार
अब मुंबई के पुछल्ले बल्लेबाज मैदान पर आ चुके थे। 16वें ओवर में सिद्धार्थ कौल ने मोर्चा संभाला और इस ओवर में उन्होंने 2 विकेट अपने नाम कर लिए। पहले कौल ने मिशेल मेकलेनगन (0) बिना खाता खोले LBW आउट किया, फिर मयंक मार्कंडेय (1) को LBW कर पविलियन का रास्ता दिखाया। इस तरह मुंबई की टीम को यह 8वां झटका लग गया। इसके बाद उन्होंने हार्दिक पंड्या (3) को अपना तीसरा शिकार बनाया। हार्दिक दबाव भरे इस मैच में 19 बॉल खेलकर सिर्फ 3 रन ही बना पाए। अंत में बासिल थंपी ने मुस्तफिजुर रहीम (1) को आउट कर इस मैच का शानदार ढंग से अंत किया।
हैदराबाद की पारी का रोमांच
इससे पहले हैदराबाद की टीम इस मैच में 118 रन पर ऑल आउट हो गई। यह इस सीजन में उसका सबसे कम स्कोर रहा। हैदराबाद की टीम इस मैच में सिर्फ 18.4 ओवर ही खेल पाई और कप्तान केन विलियमसन (29) और यूसुफ पठान (29) के अलावा कोई भी बल्लेबाज उसके लिए इस मैच में कोई खास प्रभाव नहीं छोड़ पाया।
टॉस हारे सनराइजर्स, मिला पहले बैटिंग का न्योता
इस मैच में मुंबई ने टॉस जीतकर पहले हैदराबाद को पहले बैटिंग का न्योता दिया। मुंबई के बोलर्स ने मेहमान टीम को निरंतर अंतराल पर एक के बाद एक झटके देकर अपने कप्तान के फैसले को सही साबित किया। इस मैच में MI के लिए मिशेल मेकलेनगन, हार्दिक पंड्या और मयंक मार्कंडेय ने 2-2 विकेट लिए, जबकि जसप्रीत बुमराह और मुस्तफिजुर रहमान ने 1-1 विकेट अपने नाम किया। हैदराबाद के 2 खिलाड़ी (शाकिब अल हसन और सिद्धार्थ कौल) इस मैच में रन आउट हुए।
ओपनिंग से ही खराब शुरुआत
हैदराबाद के लिए इस मैच में चोट के बाद वापसी कर रहे शिखर धवन ने कैप्टन केन विलियमसन के साथ पारी की शुरुआत की। मैच के दूसरे ओवर में एक बार फिर शिखर को बॉल ने परेशान किया। मिशेल मेकलेनगन की एक बॉल उनके पैर पर जा लगी, शिखर एक बार फिर दर्द में दिखे और अगली ही बॉल पर वह बोल्ड हो गए। यहां ऋद्धिमान साहा (0) पारी संभालने आए, लेकिन वह भी इसी ओवर में विकेटकीपर को कैच देकर चलते बने। यहां 20 रन के स्कोर पर 2 विकेट गंवाकर सनराइजर्स की टीम दबाव में घिर गई।
फिर फ्लॉप हुए मनीष पांडे
इसके बाद मनीष पांडे केन विलियमसन का साथ देने आए। मनीष बढ़िया लय में दिखाई दे रहे थे और उन्होंने आते ही कुछ अच्छे शॉट्स लगाकर टीम से दबाव हटाने के लिए 3 बेहतरीन चौके लगाए। लेकिन हार्दिक पंड्या की एक गेंद पर वह गलती कर गए और कवर्स पर खड़े रोहित शर्मा ने इसे कैच करने में कोई गलती नहीं की। इस तरह 44 के स्कोर पर सनराइजर्स ने मनीष (16) के रूप में अपना तीसरा विकेट गंवा दिया।
नहीं चले शाकिब
मनीष के बाद हैदराबाद शाकिब उल हसन पर अपनी उम्मीदें टिका रहा था कि केन विलियमसन के साथ रन दौड़ने में वह गच्चा खा गए। पहले विलियमसन ने शाकिब को नॉन स्ट्राइक एंड से दौड़ने के लिए बुलाया और फिर जोखिम भांपकर उन्हें वापस भेज दिया। आधे रास्ते में पहुंच चुके शाकिब (2) को सूर्यकुमार यादव ने रन आउट कर पविलियन भेज दिया। यहां से SRH की पर दबाव और हावी हो गया।
कैप्टन विलियमसन से हुई चूक
अभी यूसुफ पठान आकर खड़े ही हुए थे कि कुछ बॉल बाद ही दूसरे छोर पर सेट दिख रहे कप्तान केन विलियमसन इस बार हार्दिक की बॉल पर गलती कर गए। हार्दिक की गुडलेंथ बॉल पर विलियमसन थर्ड मैन बाउंड्री की ओर खेलने का प्रयास कर रहे थे कि बॉल बैट के अंदरुनी किनारे को चूमती हुई सीधे विकेटकीपर ईशान किशन के दस्तानों में पहुंच गई। इस तरह विलियमसन (29) की उपयोगी पारी का यहां अंत हो गया। 21 बॉल की इस पारी कैप्टन विलियमसन ने 5 चौके जडे़।
अकेले रह गए यूसुफ पठान
अब यूसुफ पठान का साथ देने मोहम्मद नबी मैदान पर आए। नबी ने 2 चौके जड़कर जल्दी ही अपने 14 रन पूरे कर लिए, लेकिन 12वां ओवर लेकर आए मयंक मार्कंडेय ने नबी को बोल्ड कर हैदराबाद को छठा झटका दे दिया। मयंक का इस मैच में यह पहला विकेट था और इस तरह हैदराबाद की टीम ने 85 रन जोड़ने तक अपने 6 विकेट गंवा दिए।
100 हुए, तो राशिद खान भी लौटे
7वें विकेट के लिए राशिद खान ने यूसुफ पठान के साथ मिलकर अभी 15 रन ही जोड़े थे कि जसप्रीत बुमराह ने राशिद (6) को विकेट कीपर ईशान किशन के हाथों आउट करा मैच में अपना पहला विकेट लिया। यह 100 रन के कुल स्कोर पर SRH को 7वां झटका था।इसके बाद बासिल थंपी (3) भी बोल्ड होकर मयंक मार्कंडेय का दूसरा शिकार बने।
118 ही बना पाए सनराइजर्स
अब बाकी के पुछल्ले बल्लेबाज सिर्फ औपचारिकता के लिए ही बैटिंग के लिए मैदान पर आ रहे थे। 9वें विकेट के रूप में सिद्धार्थ कौल (2) भी रन आउट कर पविलियन लौट गए। अंतिम विकेट तक एक छोर पर यूसुफ पठान जरूर खड़े थे, लेकिन इतने दबाव में अपनी टीम के लिए ज्यादा से ज्यादा रन जुटाना उनके लिए आसान नहीं था। वह 29 रन बनाकर आउट हो गए, 33 बॉल की इस पारी में यूसुफ ने 2 चौके और 1 छक्का जड़ा। अंतिम क्षणों में टीम के लिए उपयोगी रन जोड़ने के प्रयास में यूसुफ मुस्तफिजुर की बॉल पर छक्का जड़ने के प्रयास में बाउंड्री लाइन पर हार्दिक पंड्या को कैच दे बैठे। मुस्तफिजुर का यह इस मैच में एकमात्र विकेट रहा।
आज के मैच में मुंबई इंडियंस की टीम
सूर्यकुमार यादव, इविन लुइस, इशान किशन (WK), रोहित शर्मा (कप्तान), कायरन पोलार्ड, क्रुणाल पंड्या, हार्दिक पंड्या, मिशेल मेकलेनगन, मयंक मार्कंडेय, जमप्रीत बुमराह, मुस्तफिजुर रहमान
सनराइजर्स हैदराबाद की टीम
ऋद्धिमान साहा (WK), शिखर धवन, केन विलियमसन (कप्तान), मनीष पांडे, शाकिब अल हसन, यूसुफ पठान, मोहम्मद नबी, राशिद खान, बासिल थंपी, संदीप शर्मा, सिद्धार्थ कौल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here