RCB vs CSK: कोहली को विराट जीत की ज़रूरत, लेकिन सामने है धोनी की सेना

0
271

आईपीएल सीजन-11 के 24वें मुकाबले में चेन्नई सुपरकिंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम आमने-सामने होगी. दो साल बाद वापसी कर रही चेन्नई सुपर किंग्स का आते ही अपने रंग में दिख रही है और उसने चार मैचों में जीत हासिल करते हुए बता दिया है कि क्यों उसे आईपीएल के इतिहास की सबसे सफल टीम माना जाता है.
बेंगलुरू: आईपीएल सीजन-11 के 24वें मुकाबले में चेन्नई सुपरकिंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम आमने-सामने होगी. दो साल बाद वापसी कर रही चेन्नई सुपर किंग्स का आते ही अपने रंग में दिख रही है और उसने चार मैचों में जीत हासिल करते हुए बता दिया है कि क्यों उसे आईपीएल के इतिहास की सबसे सफल टीम माना जाता है. वहीं कप्तान विराट कोहली की अगुआई वाली आरसीबी का 11वां सीजन अभी तक खराब रहा है.चेन्नई को अपने अगले मैच में एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में बुधवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर से भिड़ना है. विराट कोहली की कप्तानी वाली बेंगलोर के लिए महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई का सामना करना आसान नहीं होगा.चेन्नई शानदार फॉर्म में है और पांच मैचों में सिर्फ एक में उसे हार मिली है. वहीं, बेंगलोर को सिर्फ दो मैचों में जीत मिली है.चेन्नई के बल्लेबाजों ने हर मैच में शानदार प्रदर्शन किया है. शेन वाटसन और अंबाती रायडू की सलामी जोड़ी फॉर्म में है जो बेंगलोर के अभी तक राह से भटके गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ खतरनाक साबित हो सकती है.सुरेश रैना, ड्वेन ब्रावो और कप्तान धोनी के रहते चेन्नई किसी भी परिस्थिति में कहीं से भी मैच जीत सकती है. इन तीनों में वो काबिलियत है कि यह टीम को बड़ा स्कोर प्रदान कर सकते हैं और किसी भी लक्ष्य तक टीम को पहुंचा भी सकते हैं.गेंदबाजी में दीपक चहर ने काफी प्रभावित किया है. दीपक को शार्दूल ठाकुर का भी अच्छा साथ मिला है. दोनों ने पांच और चार मैच खेले हैं और छह-छह विकेट लिए हैं.ऑलराउंडर खिलाड़ी वाटसन भी टीम की गेंदबाजी की धुरी में शामिल हैं. स्पिन में लेग स्पिनर इमरान ताहिर और रवींद्र जडेजा अभी तक टीम के लिए काफी असरदार साबित हुए हैं. दोनों ने टीम को कठिन समय में सफलता दिलाई है.बेंगलोर की टीम में कोहली, एबी डिविलियर्स, मनदीप सिंह, क्विंटन डी कॉक और ब्रेंडन मैक्कलम जैसे नाम हैं, लेकिन इनमें कोहली को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाया है.कोहली ने पांच मैचों में 57.75 की औसत से 231 रन दिए हैं. डिविलियर्स ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 39 गेंदों में 90 रनों की पारी खेली और अगर वह चेन्नई के खिलाफ भी इस तरह का प्रदर्शन जारी रखते हैं तो बेंगलोर के लिए इससे बड़ी खुशी की बात नहीं होगी.बेंगलोर की समस्या सही ओपनिंग जोड़ी रही है. गेंदबाजी में युजवेंद्र चहल और वॉशिंगटन सुंदर से टीम काफी आस लगाए बैठी है. गेंदबाजी में क्रिस वोक्स ने भी प्रभावित किया है और आठ विकेट अपने नाम किए हैं. वहीं उमेश यादव के नाम भी आठ विकेट हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here