UP Board Result 2018: रिजल्ट के तनाव से निपटने के कारगर टिप्स,

0
930

UP Board high school and Inter Result 2018: बोर्ड रिजल्ट से पहले और उसके बाद विद्यार्थियों पर तनाव हावी रहता है। पास ही नहीं बल्कि अच्छी परफॉर्मेंस का प्रेशर उन्हें सताता रहता है। जबकि सच तो यह है कि बोर्ड रिजल्ट आपके करियर की दिशा तय नहीं करते। पांच साल बाद यह कोई नहीं देखेगा कि आपके 12वीं बोर्ड परीक्षा में कितने मार्क्स आए थे, बल्कि देखा ये जाएगा कि आपने इसके बाद क्या किया है? हायर एजुकेशन के दौरान डर को अपने दिल से निकालने की जरूरत होती है।पेरेंट्स को भी चाहिए कि वह अपने बच्चों पर अनावश्यक दवाब न डालें। परीक्षा में खराब परफॉर्म करने पर अपने बच्चे की तुलना आसपास के बच्चों से न करें। बच्चों को नीचा दिखाने से उसका आत्मविश्वास का स्तर और घटेगा। ऐसी स्थिति में उन्हें समझाएं कि एक असफलता उनका करियर का फैसला नहीं कर सकती। भविष्य की ओर देखें, बीते हुए की ओर नहीं। पॉजिटिव सोचें। दुनिया में अवसरों की कमी नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.